पनामा पेपर लीक में नवाज शरीफ को फौरी राहत, संयुक्त जांच टीम के गठन का आदेश

nawaz-sharif
पनामा पेपर लीक में नवाज शरीफ को फौरी राहत, संयुक्त जांच टीम के गठन का आदेश

इस्‍लामाबाद। पनामा पेपर लीक मामले में पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर सुप्रीम कोर्ट ने आगे की पड़ताल के लिए संयुक्‍त जांच टीम के गठन का आदेश दिया और उनके दो बेटों को जांच टीम के सामने पेश होने को कहा है। साथ ही कोर्ट ने कहा कि कतर पैसा भेजने की भी जांच की जाएगी। सुप्रीम कोर्ट के पांच जजों ने यह फैसला सुनाया है जिसमें से दो जज उनके अयोग्‍य ठहराने के पक्ष में थे।

बता दें कि पनामा पेपर लीक मामले में भ्रष्‍टाचार के आरोपों से घिरे प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर सुप्रीम कोर्ट की ओर से आने वाले इस महत्‍वपूर्ण फैसले को देखते हुए वहां के आस-पास के क्षेत्र को पुलिस की छावनी में तब्‍दील कर दिया गया था।

गुरुवार सुबह पाकिस्‍तान का स्‍टॉक मार्केट में 250 प्‍वाइंट बढ़त देखी गयी, जिससे पता चलता है कि निवेशकों में इस बात का विश्‍वास है कि कोर्ट प्रधानमंत्री के पद के लिए नवाज शरीफ को अयोग्‍य नहीं घोषित करेगा।

उल्‍लेखनीय है कि पनामा पेपर्स लीक में पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके परिजनों पर विदेशों में अघोषित संपत्तियां रखने का आरोप लगा था। मोजैक फोंसेका लॉ फर्म से लीक कागजातों के अनुसार उनकी बेटी और दो बेटों की विदेशों में कंपनियां होने और इनके जरिए लंदन में प्रॉपर्टी खरीदे जाने का खुलासा हुआ और इसी आधार पर शरीफ के खिलाफ मामला दर्ज हुआ था।

पनामा पेपर्स को पिछले वर्ष इंटरनेशनल कंसोर्टियम ऑफ इंवेस्‍टीगेटीव जर्नलिस्‍ट ने छापा था। पाकिस्‍तान मुस्‍लिम लीग नवाज के सदस्‍य दानयाल अजीज ने बताया, ‘पनामा पेपर्स में प्रधानमंत्री का नाम नहीं था बल्‍कि उनके संतान के नाम थे और बच्‍चों व उनके आर्थिक संपत्‍ति में कोई कनेक्‍शन नहीं क्‍योंकि वे अलग अलग टैक्‍स का भुगतान करते हैं। पिछले वर्ष शरीफ ने संसद को बताया था कि उनके राजनीति में आने से दशकों पहले ही उनके परिवार ने कानूनी तरीके से संपत्‍ति अर्जित किया है।

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने 23 फरवरी को भ्रष्टाचार से इस जुड़े मामले में अपना फैसला सुरक्षित रखा था।

पनामा पेपर लीक में पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को पाकिस्‍तान सुप्रीम कोर्ट फौरी राहत देते हुए संयुक्त जांच टीम के गठन का आदेश दे दिया। इससे शरीफ को 2 महीने की मोहलत मिल गई।

पनामागेट मामले में पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने नवाज शरीफ को फौरी तौर पर राहत दी है. सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले में संयुक्त जांच टीम बनाने का फैसला सुनाया है. ये टीम नवाज शरीफ के पनामागेट मामले में भूमिका की जांच करेगी.

इस मामले की सुनवाई पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट में 5 जजों वाली एक बेंच कर रही थी. मामले की सुनवाई के दौरान 3 जज नवाज को अयोग्य ठहराने के खिलाफ थे जबकि 2 जज इस मामले में नवाज की भूमिका मानते हुए उन्हें अयोग्य ठहराने के पक्ष में थे.

3-2 से दिए गए फैसले में संयुक्त जांच टीम बनाने का फैसला सुनाया गया. अब इस मामले में नवाज के पैसे कतर भेजे जाने की भी जांच होगी. टीम के सामने नवाज के साथ उनके दोनों बेटों को भी पेश होना होगा. 2 महीने के अंदर संयुक्त जांच टीम को अपनी रिपोर्ट पेश करने को कहा गया है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *