पाकिस्तान पहुंचते ही Nawaz Sharif और मरियम होंगे गिरफ्तार

नई दिल्‍ली। भ्रष्टाचार के एक मामले में दोषी ठहराए जा चुके पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री Nawaz Sharif और उनकी बेटी मरियम 13 जुलाई को पाकिस्तान पहुंचेंगे। देश पहुंचते ही उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। पाकिस्तान के कानून मंत्री अली जफर ने सोमवार को कहा, अपदस्थ प्रधानमंत्री Nawaz Sharif और उनकी बेटी मरियम को देश के किसी भी हवाईअड्डे पर पहुंचने के बाद गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सरकार जवाबदेही अदालत के आदेश को पूरी तरह लागू करेगी। कानून प्रवर्तन एजेंसियां अदालती आदेश को लागू करते हुए शरीफ और मरियम को हवाईअड्डे पर पहुंचते ही गिरफ्तार कर लेंगी।

दोनों शुक्रवार को देश लौटेंगे 

मरियम ने पाकिस्तान वापसी के लिए अपनी उड़ान का ब्योरा रविवार शाम मीडिया से साझा किया था। मरियम ने बताया कि वह इत्तेहाद एयरवेज की उड़ान ईवाई-243 से शुक्रवार शाम सवा छह बजे लाहौर हवाईअड्डा पहुंचेंगी। पीएमएल-एन के प्रवक्ता मरियम औरंगजेब ने भी कहा कि शरीफ और मरियम एक विदेशी एयरलाइन से अबूधाबी होते हुए शुक्रवार को लाहौर पहुंचेंगे।

राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो मुस्तैद

राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो (एनएबी) ने भी घोषणा की है कि शुक्रवार को Nawaz Sharif और मरियम के लाहौर पहुंचने पर वह उन्हें गिरफ्तार कर लेगा। ब्यूरो के एक अधिकारी ने सोमवार को बताया कि उन्होंने इस सिलसिले में पंजाब सरकार को समन्वय बनाने के लिए कहा है। ताकि शरीफ और मरियम को हवाईअड्डे पर गिरफ्तार किया जा सके। इस्लामाबाद स्थित जवाबदेही अदालत ने पिछले शुक्रवार को शरीफ और मरियम को एवेनफिल्ड संपत्ति भ्रष्टाचार मामले में क्रमश: 10 साल और सात साल की सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी।

शरीफ के दामाद अदियाला जेल भेजे गए

नवाज शरीफ के दामाद कैप्टन मोहम्मद सफदर अवान (रिटायर) को सोमवार को कड़ी सुरक्षा के बीच रावलपिंडी की अदियाला जेल भेज दिया गया है। उन्हें राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो ने रियल एस्टेट संबंधी भ्रष्टाचार के एक मामले में गिरफ्तार किया था। अवान को भ्रष्टाचार के मामले में एक साल की सजा दी गई है। इसी से जुड़े मामले में शरीफ व उनकी बेटी मरियम को शरीफ परिवार द्वारा लंदन में आलीशान फ्लैट की खरीद को लेकर सजा दी गई है।

जियो न्यूज की रिपोर्ट के मुताबिक, जेल अधिकारियों ने बताया कि अवान की जेल में डॉक्टरी जांच की गई और उन्हें बाद में बी श्रेणी के कैदियों की बैरक में भेज दिया गया। अवान दोषी करार दिए जाने के बाद शुक्रवार को कथित तौर पर भूमिगत हो गए थे। इसके एक दिन बाद वह रावलपिंडी में दिखाई दिए और पाकिस्तान मुस्लिम लीग (नवाज) की एक रैली का नेतृत्व किया, जहां उनके समर्थकों के भारी विरोध के बीच भ्रष्टाचार रोधी अधिकारियों ने उन्हें आखिरकार गिरफ्तार किया।

एनएबी ने रविवार को बयान में अवान को एक दोषी बताया और मीडिया से उन्हें बढ़ावा देने से परहेज करने को कहा, क्योंकि इससे अराजकता बढ़ सकती है। अधिकारियों ने कहा कि उनकी मदद करने वालों को कड़ी कार्रवाई का सामना करना होगा। इस बयान के बाद एनएबी अधिकारियों ने गिरफ्तारी में बाधा डालने को लेकर अवान व दूसरे पीएमएल-एन के नेताओं के खिलाफ एक मामला दर्ज किया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »