Rape के आरोपी बिशप पर राष्ट्रीय महिला आयोग सख्‍त, कड़ी टिप्‍पणी की

तिरुवनंतपुरम। एक नन के साथ Rape के आरोपी जालंधर के बिशप फ्रैंको मुलक्कल की मुश्किलें बढ़ती दिख रही हैं। मुलक्कल की गिरफ्तारी की मांग को लेकर एक तरफ जहां नन केरल की सड़कों पर हैं, वहीं दूसरी तरफ डीजीपी ने आईजी पुलिस को आरोपी बिशप के खिलाफ जल्द से जल्द पूरी जांच के निर्देश दिए हैं। उधर, राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी इस मामले को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।
बता दें कि बिशप फ्रैंको मुलक्कल को गिरफ्तार करने की मांग और तेज हो गई है। शनिवार को जॉइंट क्रिश्चियन काउंसिल द्वारा बुलाए गए प्रदर्शन में बड़ी संख्या में नन ने हिस्सा लिया और बिशप पर कड़ी कार्रवाई की मांग की।
इस मामले में प्रतिक्रिया देते हुए रविवार को डीजीपी लोकनाथ बेहरा ने कहा, ‘बिशप के खिलाफ इस मामले में पूरी जांच के लिए आईजी पुलिस को निर्देश दिया है। आईजी ने बताया है कि जांच जारी है।’ इस दौरान डीजीपी ने यह भी बताया कि फिलहाल इस मामले को क्राइम ब्रांच को सौंपने के लिए कोई निर्णय नहीं लिया गया है।
उधर, Rape पीड़ित नन को वेश्या करार दिए जाने वाले विधायक पीसी जॉर्ज के बयान पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने कड़ी टिप्पणी की है। आयोग अध्यक्ष रेखा शर्मा ने कहा, ‘ऐसे लोगों पर शर्मिंदगी महसूस होती है, जो पीड़ित महिला को मदद करने की जगह इस तरह के बेतुके बयान देते हैं। यह मामला हमारे संज्ञान में है और हम उनके (विधायक) खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग को लेकर डीजीपी को पत्र लिखेंगे।’ बता दें कि विधायक ने कहा था, ‘इस बात में किसी को शक नहीं है कि नन वेश्या है। 12 बार उसने एंजॉय किया तो 13वीं बार यह रेप कैसे हो गया?’ उधर, सीपीएम की वरिष्ठ नेता सुभाषिनी अली ने भी विधायक के इस बयान की निंदा की है।
पीड़ित नन से मुलाकात पर शर्मा ने कहा, मैं व्यक्तिगत रूप से उनसे मिली थी। बिशप के खिलाफ विरोध में वह हिस्सा ले रही थीं, जहां उन्होंने अपने लिए न्याय की मांग की। मैंने चर्च द्वारा उनकी निंदा होते हुए देखा है। यहां तक की राशन और मासिक वेतन जैसी बुनियादी सुविधाओं से भी उन्हें वंचित कर दिया गया था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »