शेरों को दूर रखने का मुल्‍ला नसरुद्दीन का तरीका

तरह-तरह की आशंकाएं और विभिन्‍न किस्‍म के डर हमेशा हमारा पीछा करते रहते हैं। आश्‍चर्य की बात तो यह है कि इनमें से अधिकांश आशंकाएं और भय निर्मूल होते हैं, किंतु हम अपने जीवन का बहुत सा समय उनके उपाय करने में बिता देते हैं।
विचार कीजिए कि कहीं आप भी तो ऐसी आशंकाओं और भय का निवारण करने की कवायद में तो नहीं लगे जिनका कोई औचत्‍य ही नहीं है।
मुल्‍ला नसरुद्दीन अपने घर के बाहर बासी राटियों के टुकड़े बिखेर रहा था। उसे ऐसा करते देख उसके पड़ोसी ने पूछा- ये क्‍या कर रहे हो मुल्‍ला ?
”शेरों को दूर रखने का यह बेहतरीन तरीका है मियां”, मुल्‍ला ने पड़ोसी को बताया।
”लेकिन इस इलाके में तो एक भी शेर नहीं हैं” पड़ोसी ने मुल्‍ला को बताया।
इस पर मुल्‍ला का जवाब था- तरीका वाकई कारगर है, है न!