प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार Ayodhya जाएंगे नरेंद्र मोदी

अयोध्या। प्रधानमंत्री बनने के बाद नरेंद्र मोदी पहली बार Ayodhya जाएंगे। 2014 में प्रधानमंत्री बनने के बाद से अभी तक पीएम Ayodhya नहीं गए हैं। ऐसे में 01 मई को उनके Ayodhya दौरे का कार्यक्रम अलग-अलग नजरिए से देखा जा रहा है। बता दें कि फैजाबाद लोकसभा सीट पर पांचवें चरण के तहत 6 मई को मतदान होना है।
प्रधानमंत्री मोदी आंबेडकर नगर और Ayodhya के बीच गोसाईंगंज के माया बाजार इलाके में 1 मई को चुनावी रैली को संबोधित करेंगे। हालांकि अभी यह साफ नहीं है कि पीएम मोदी का अयोध्या के मंदिरों में भी दर्शन-पूजन का कार्यक्रम है या नहीं।
Ayodhya दौरे के मायने
पीएम मोदी के अयोध्या दौरे के कई मायने निकाले जा रहे हैं। माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण की वोटिंग से पहले पीएम के इस दौरे से बीजेपी को आस-पास की सीटों पर फायदा मिल सकता है। साथ ही इसे 6 मई को मतदान से पहले माहौल अपने पक्ष में करने की जुगत के रूप में भी देखा जा रहा है। 6 मई को फैजाबाद सीट के अलावा धौरहरा, सीतापुर, मोहनलालगंज, लखनऊ, रायबरेली, अमेठी, बांदा, फतेहपुर, कौशाम्बी, बाराबंकी, बहराइच, कैसरगंज और गोंडा लोकसभा सीटों पर भी मतदान है। ऐसे में एसपी-बीएसपी-आरएलडी गठबंधन की चुनौती से जूझ रही बीजेपी को इस रैली से काफी आशाएं हैं।
सुप्रीम कोर्ट में अयोध्या मामला
अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है। भव्य राम मंदिर निर्माण की साधु-संतों की मांग के बीच लंबे अरसे से यह मामला अदालती कार्यवाही में उलझा हुआ है। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने सभी पक्षों से बातचीत के जरिए मामले को सुलझाने के लिए मध्यस्थों की एक कमेटी बनाई थी। अगर मध्यस्थता से मामला नहीं सुलझता है तो सुप्रीम कोर्ट मामले में अंतिम निर्णय देगा।
वाराणसी में 7 किमी लंबा रोड शो
इस बीच आज से पीएम मोदी वाराणसी के दो दिन के दौरे पर हैं। शाम को उनका मेगा रोड शो का कार्यक्रम है। इसके बाद शुक्रवार को पीएम मोदी अपना नामांकन दाखिल करेंगे। बीजेपी ने इसके लिए बड़े पैमाने पर तैयारियां की हैं। खुद अमित शाह वहां डटे हुए हैं। पीएम का रोड शो लंका स्थित महामना मदन मोहन मालवीय की प्रतिमा पर माल्‍यार्पण के साथ शुरू होगा। करीब 7 किलोमीटर की दूरी 4 घंटे में तय कर प्रधानमंत्री दशाश्‍वमेध घाट पहुंचेंगे। यहां बने फ्लोटिंग प्‍लेटफार्म से मां गंगा का वैदिक रीति से पूजन करने के बाद भव्‍य गंगा आरती में शामिल होंगे।
गंगा सेवा निधि के अध्‍यक्ष सुशांत मिश्र ने बताया कि 2014 का चुनाव जीतने के बाद और जापान के प्रधानमंत्री शिंजो अबे को साथ लेकर प्रधानमंत्री मोदी के आने के समय से कहीं ज्‍यादा भव्‍य ढंग से दशाश्‍वमेध घाट को सजाया जाएगा। कवि केशव की पंक्ति ‘नाम लिए कितने तरिजात, प्रणाम किए सुर लोक सिधारो’ के लयबद्ध गायन के बीच पंरपरागत वेशभूषा में 7 अर्चक मां गंगा की आरती करेंगे। अर्चकों के साथ रिद्धि सिद्धि के रूप में 14 कन्‍याएं रहेंगी। यह नजारा देव दीपावली उत्‍सव जैसा होगा।
100 फीट ऊंचा कटआउट
दशाश्‍वमेध के बगल के राजेंद्र प्रसाद घाट पर बनाए गए मंच से प्रधानमंत्री लोगों को संबोधित करेंगे। भगवा रंग में रंगे घाट पर बनारस के मंदिर, कला व संस्‍कृति को उकेरा गया है। यहां लगाया गया 100 फीट ऊंचा पीएम का कटआउट दूर से ही दिखेगा। यह वही घाट है जहां से पूर्व प्रधानमंत्री स्‍व. राजीव गांधी ने गंगा सफाई कार्य योजना का शुभारंभ किया था।
नामांकन में दिग्गजों का जमघट
प्रधानमंत्री के रोड शो व नामांकन की कमान बीजेपी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष अमित शाह ने संभाली है। अमित शाह ने बताया कि नामांकन के दौरान पूरा एनडीए काशी में रहेगा। एनडीए के वरिष्‍ठ नेता पंजाब के पूर्व सीएम प्रकाश सिंह बादल, बिहार के सीएम नी‍तीश कुमार, एलजेपी सुप्रीमो रामविलास पासवान, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे, एआईडीएमके, असम गण परिषद, अपना दल व नार्थ इस्‍ट में बीजेपी से जुड़े सभी बड़े नेता भी काशी में रहेंगे। केंद्रीय मंत्री सुषमा स्‍वराज, निर्मला सीतारमण, नितिन गडकरी, पीयूष गोयल के अलावा हेमा मालिनी, जयाप्रदा, भोजपुरी फिल्‍मों के स्‍टार मनोज तिवारी, रवि किशन व दिनेश लाल निरहुआ का भी रोड शो में शामिल होना तय है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »