नाओमी ओसाका ने विक्टोरिया को हराकर जीता यूएस ओपन 2020

नाओमी ओसाका ने यूएस ओपन फ़ाइनल जीत कर अपना तीसरा ग्रैंड स्लैम जीत लिया है. 22 साल की जापानी खिलाड़ी ओसाका ने 1-6 6-3 6-3 से ये मैच जीता.
उनका मुक़ाबला था 31 साल की बेलारूस की विक्टोरिया एज़ारेंका से था, जो 2013 के बाद अपना पहला यूएस ओपन फ़ाइनल खेल रही थीं.
ओसाका ने अपना हर फ़ाइनल जीतने का रिकॉर्ड कायम रखा है. इस जीत के बाद वे वर्ल्ड रैंकिग में तीसरे नंबर पर आ गई हैं.
नाओमी ओसाका पहली एशियाई खिलाड़ी बन गई हैं जिन्होंने तीन ग्रैंड स्लैम अपने नाम कर लिए हैं.
मैच के बाद ओसाका ने एज़ारेंका से कहा, “मैं बचपन में आपको खेलते देखती थी, मेरे लिए आपके साथ खेलना प्रेरणा भरा था. मैंने आपसे बहुत कुछ सीखा है.”
दरअसल, एज़ारेंका ने अपने गर्भवती होने के बाद 2016 में खेल से दूरी बना ली थी और उसके बाद अपने बेटे की कस्टडी की लड़ाई के कारण वापसी नहीं कर पाईं.
ये मैच कोरोना वायरस को देखते हुए एकदम अलग परिस्थिति में खेला जा रहा था. इस आर्थर ऐश स्टेडियम में दर्शक नहीं थे.
सोशल डिस्टेंसिंग के नियम की वजह से ओसाका को भी उनकी ट्रॉफ़ी किसी ने पेश नहीं की बल्कि उन्होंने ख़ुद ही टेबल से उठाई.
हालांकि खेल की शुरूआत ओसाका के लिए आसान नहीं थी, उन्होंने कई ग़लतियां कीं.
कभी वे अपने आप को स्थिर करने के लिए सिर पर तौलिया लपेटती रहीं तो कभी निराशा में रैकेट ही फेंक दिया.
अपनी जीत के बाद ओसाका ने कहा कि उन्हें लग रहा था कि एक घंटे से कम में ही ये मैच हार जाना उनके लिए बहुत शर्मिंदगी की बात होगी.
ओसाका ने अपनी पहचान ना सिर्फ़ अपने शानदार खेल से बनाई है बल्कि अमरीका में नस्लवाद और पुलिस बर्बरता को लेकर भी वे मुखर रही हैं.
यूएस ओपन की शुरूआत से पहले, जैकब ब्लेक पर चली गोली के विरोध में ओसाका ने वेस्टर्न और सदरन ओपन सेमीफाइनल से खुद को अलग कर लिया था.
यूएस ओपन के पहले मैच में भी उन्होंने एक काली महिला ब्रिओना टेलर का मास्क पहना था जिनकी मौत मार्च में पुलिस की गोली से हुई थी.
इसी स्टेडियम में जब दो साल पहले नाओमी ओसाका जीतने के बाद पोडियम पर खड़ी थीं तो उनकी आंखों में आंसू थे.
तब नाओमी मे अपनी प्रेरणा और महान टेनिस खिलाड़ी सरीना विलियम्स को हराया था. लेकिन ऐसा लग रहा था कि जैसे कि वे अपनी जीत के लिए माफ़ी मांग रही हों.
उस मैच में सरीना विलियम्स की अंपायर कार्लोस रेमोस से बहस हो गई थी और ग़ुस्से में सरीना ने अंपायर को चोर तक कह दिया था.
ये मैच ओसाका ने जीता और पहला ग्रैंड स्लैम अपने नाम किया लेकिन दर्शक इस मैच को लेकर नाराज़गी में शोर मचा रहे थे.
ये देखकर ओसाका रोने लगीं. हालांकि सरीना विलियम्स ने उनके कंधे पर हाथ रखकर उनका हौसला भी बढ़ाया लेकिन ओसाका के लिए ये जीत फीकी हो गई थी.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *