उपेंद्र कुशवाहा पर लगाया Nagmani ने बड़ा आरोप, दिया इस्तीफा

पटना। रालोसपा प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पर बडा आरोप लगाते हुए Nagmani ने पार्टी से इस्तीफा दे दिया। राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (रालोसपा) प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा पर आज बड़ा हमला बोलते हुए पूर्व केंद्रीय मंत्री Nagmani ने रालोसपा से इस्तीफा दे दिया है। नागमणि ने पार्टी की सदस्यता और सभी पदों से भी इस्तीफा दे दिया है। Nagmani ने रविवार को अपने आवास पर पत्रकारों से बातचीत में उपेंद्र कुशवाहा पर आरोप लगाते हुए उनको नौटंकीबाज करार दिया। नागमणि ने कहा कि रालोसपा प्रमुख ने जनता का अपमान किया है। उन्होंने कहा, कुशवाहा पर लाठीचार्ज नहीं हुआ था बल्कि लाठीचार्ज के लिए उन्होंने साजिश रची थी। नागमणि ने कहा उपेंद्र कुशवाहा समाज की सहानुभूति बटोरना चाहते हैं। इसको लेकर उन्होंने अपने चमचों से पूरी प्लानिंग करवायी थी, जिसके बाद इस घटना को अंजाम दिया गया है।

पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि ने आगे कहा, हमें मीडिया के माध्यम से नोटिस मिला था और हम भी मीडिया के माध्यम से जवाब दे रहे हैं। उन्होंने महागठबंधन के नेताओं से अपील करते हुए कहा कि उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी रालोसपा को मात्र एक सीट दें। काराकाट में जनता उनका जमानत जब्त करायेगी।

कुशवाहा का नहीं कोई वजूद : नागमणि
साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि कुशवाहा का कोई वजूद नहीं है। नागमणि ने कुशवाहा को खुद से जूनियर बताते हुए कहा कि जूनियर को आगे बढ़ाने का मैंने काम किया और सीएम का दावेदार बनाया लेकिन मुझे चपरासी की तरह एक मिनट में हटा दिया गया। नागमणि ने कहा कि कुशवाहा की पार्टी में तानाशाही चलती है. उन्होंने आज तक किसी का काम नहीं किया है। अगर उन्होंने किसी भी जनता का काम किया हो तो बताए मैं 25 हजार रुपये का इनाम दूंगा।

कुशवाहा पर पैसे लेकर टिकट बेचने का लगाया आरोप
पूर्व केंद्रीय मंत्री नागमणि ने उपेंद्र कुशवाहा पर पैसे लेकर टिकट बेचने का भी आरोप लगाया। दरअसल शुक्रवार को महागठबंधन के घटक दल रालोसपा ने पार्टी विरोधी गतिविधि के कारण पार्टी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष नागमणि को उनके पद से हटाने के साथ ही उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया था। पार्टी आलाकमान उपेंद्र कुशवाहा ने नागमणि को तीन दिन का समय दिया था। बताया जाता है कि शुक्रवार को नागमणि ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ की थी।

उल्लेखनीय है कि रालोसपा ने 2 फरवरी को शिक्षा सुधार की मांग को लेकर राजधानी पटना के जेपी मूर्ति के समीप से राजभवन तक आक्रोश मार्च निकाला था। इस दौरान पुलिस ने बीच में मार्च को रोकने की कोशिश की। रालोसपा कार्यकर्ताओं द्वारा विरोध करने और आगे बढ़ने की कोशिश देख पुलिस ने लाठीचार्ज किया था। लाठीचार्ज में उपेंद्र कुशवाहा के साथ ही दर्जनों रालोसपा कार्यकर्ताओं के भी घायल होने की खबरें सामने आयी थी। उन्हें पीएमसीएच में भर्ती करवाया गया था।
-एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *