मुज़फ़्फ़रनगर: छात्राओं को निर्वस्त्र करके जाँच करने की घटना पर जांच के आदेश

Muzaffarnagar: Investigation orders on the investigation of the students Nude check
मुज़फ़्फ़रनगर: छात्राओं को निर्वस्त्र करके जाँच करने की घटना पर जांच के आदेश

उत्तर प्रदेश के मुज़फ़्फ़रनगर ज़िले के खतौली इलाक़े में स्थित एक आवासीय विद्यालय के अंदर छात्राओं को कथित तौर पर निर्वस्त्र करके जाँच करने का मामला सामने आया है.
घटना सामने आने के बाद ज़िले के बेसिक शिक्षा अधिकारी को इस घटना की पड़ताल करने के आदेश दे दिए गए हैं.
खतौली के SDM एस सी गुप्त ने बताया कि 29 मार्च को कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में साफ़-सफ़ाई को लेकर हॉस्टल की वॉर्डेन के नेतृत्व में छात्राओं की जाँच की गई.
अधिकारी ने दी सूचना
उन्होंने बताया, “छात्राओं को निर्वस्त्र करके जांच करने की बात पता चलने पर हमने ज़िलाधिकारी को सूचना दी. उसके बाद बीएसए से मामले की तुरंत जांच कर रिपोर्ट देने को कहा गया है.”
घटना की जानकारी छात्राओं ने ही अपने परिजनों को दी. उसके बाद कई अभिभावक स्कूल पहुंच गए और स्कूल प्रशासन से इसकी शिकायत की. बताया गया है कि क़रीब 70 छात्राओं की जाँच एक साथ की गई.
ज़िलाधिकारी के आदेश के बाद बेसिक शिक्षा अधिकारी के नेतृत्व में सात सदस्यों की टीम मामले की जांच कर रही है.

वॉर्डन पर आरोप है कि उसने 70 लड़कियों को अपने सामने न्यूड कराकर उनकी चेकिंग की। वॉर्डन ने छात्राओं के मासिक धर्म के दौरान के रक्त की जांच के लिए छात्राओं के साथ यह हरकत की। हालांकि मामले की जानकारी में आते ही वॉर्डन को तुरंत प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है।
मुजफ्फरनगर में हुई इस घटना पर राज्य सरकार के मंत्री श्रीकांत शर्मा ने भी प्रतिक्रिया दी है। शर्मा ने कहा, ‘यह मामला बहुत गंभीर है। मैंने इस मामले से संबंधित अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए हैं। दोषियों के खिलाफ ऐक्शन लिया जाएगा।’ छात्राओं का आरोप है कि वॉर्डन ने यह शर्मनाक घटना सिर्फ पीरियड्स का ब्लड चेक करने के लिए किया गया।
इस घटना को लेकर हॉस्टल में रहने वाली छात्राओं में काफी आक्रोश है। छात्राओं ने वॉर्डन के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्यवाही का निर्देश दिया है।
आरोपी वाॉर्डन का कहना है, ‘बाथरूम में ब्लड देखकर मुझे लड़कियों की चिंता हुई इसलिए मैंने सिर्फ चेकिंगी की थी यह देखने के लिए कि सब कुछ ठीक है या नहीं। मैं लड़कियों की पढ़ाई को लेकर सख्त रहती हूं। कुछ लोगों ने लड़कियों को मेरे खिलाफ भड़काया है।’
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *