मुंबई: Hospital में मरीजों को चूहों ने काटा, अब देना होगा दो-दो लाख रुपए का मुआवजा

मुंबई। राज्य मानवाधिकार आयोग ने बाबासाहब आंबेडकर म्यूनिसिपल जनरल Hospital (शताब्दी हॉस्पिटल) से तीन मरीजों को दो-दो लाख रुपये का मुआवजा देने को कहा है। 
इन तीनों मरीजों को पिछले साल Hospital में इलाज के दौरान चूहे ने काटा था, जिसके बाद मामला मानवाधिकार आयोग के पास पहुंचा। आयोग ने इस लापरवाही के लिए जिम्मेदार मानते हुए अस्‍पताल से तीनों को मुआवजा देने को कहा है जिससे सुनिश्चित किया जा सके कि भविष्य में ऐसा न हो। 
मानवाधिकार आयोग ने बीते साल सामने आए इन मामलों को समाचार पत्रों में प्रकाशित खबरों के आधार पर फौरन संज्ञान में लिया था। आयोग ने इस बात पर हैरानी जताई थी कि Hospital मरीजों को इलाज के लिए स्वस्थ और साफ-सुथरा परिसर देने के लिए जरूरी कदम नहीं उठा रहा था। 
यह आदेश 27 अप्रैल को महाराष्ट्र मानवाधिकार आयोग के सदस्य एमए सईद ने दिया है। सईद ने इसमें उन तीन मरीजों का जिक्र किया जिन्हें इलाज के दौरान चूहों के काटने की बात सामने आई थी। इनमें से एक प्रमिला नेरुलकर की मौत हो चुकी है। अगर Hospital का संचालन करने वाली बीएमसी यह रकम नहीं चुकाती तो उस पर हर साल 12.5 प्रतिशत की दर से ब्याज लगता जाएगा। 
बता दें कि बीते साल अक्टूबर में अस्‍पताल के फर्स्ट फ्लोर पर इलाज करवा रहे मरीज की एक आंख में चूहे ने काट लिया था। कुछ दिनों बाद एक और मरीज के पैर में चूहे के काटने की बात सामने आई थी। इसके विरोध में बीजेपी नेता बीएमसी जनरल बोर्ड की मीटिंग में पिंजड़े में चूहा लेकर पहुंच गए थे। आरोप था कि Hospital के आईसीयू तक में चूहे दौड़ लगाते रहते हैं।  
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »