सांसद की मांग: प्रभु श्रीराम को मिलना चाहिए प्रधानमंत्री आवास योजना में घर

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की घोसी लोकसभा सीट से बीजेपी सांसद हरिनारायण राजभर ने एक बयान देते हुए कहा है कि प्रभु श्रीराम तिरपाल में हैं, उन्हें ठंड लगती है, बारिश में भीगते हैं इसलिए उनको प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत घर दिया जाना चाहिए।
सांसद ने इसके अलावा ये भी कहा कि जिस तरह कारसेवा करके विवादित ढांचे को गिराया गया था, उसी तरह की कारसेवा राम मंदिर निर्माण के लिए भी होनी चाहिए।
बीजेपी सांसद ने कहा, ‘लोगों की आस्था का फैसला सरकार या सुप्रीम कोर्ट नहीं कर सकता। राम मंदिर 100 करोड़ हिंदुओं की आस्था का मामला है, जिस प्रकार कारसेवा से विवादित ढांचे को गिराया गया था, उसी प्रकार सुप्रीम कोर्ट के फैसले का इंतजार ना करते हुए कारसेवा के द्वारा मंदिर को बनाना चाहिए।’
श्रीराम को घर के लिए डीएम को खत
उन्होंने यह भी कहा कि वह फैजाबाद के जिलाधिकारी को पत्र लिखकर कहेंगे कि रामलला को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास उपलब्ध कराया जाए।
उन्होंने कहा, ‘मोदी सरकार की मंशा है कि कोई बिना छत के ना रहे। प्रभु श्रीराम तिरपाल में हैं, उन्हें ठंड लगती है, बारिश में भीगते हैं इसलिए उनको प्रधानमंत्री आवास के तहत घर मिलना चाहिए।’
राम मंदिर के लिए केंद्र पर दबाव
आपको बता दें कि केंद्र की बीजेपी सरकार पर लगातार राम मंदिर निर्माण को लेकर दबाव बनाने की कोशिश की जा रही है। हाल ही में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद ने भी ऐलान किया है कि अयोध्या में कुंभ मेले से पहले अगर राम मंदिर निर्माण पर फैसला नहीं हुआ तो नागा संन्यासी अयोध्या के लिए कूच करेंगे। वहीं दूसरी ओर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बीते रविवार को कहा था कि सिर्फ भारतीय जनता पार्टी ही अयोध्या में राम मंदिर बनवा सकती है।
दूसरी ओर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी अयोध्या में मंदिर निर्माण को लेकर मुखर हो रहा है। आरएसएस के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्ण गोपाल ने राम मंदिर पर फैसले में देरी पर सवाल उठाते हुए मंगलवार को कहा था कि जब सबरीमाला व जलीकट्टू में कोर्ट इतनी जल्दी फैसली सुना सकता है तो रामजन्मभूमि का मामला 70 साल से क्यों विचाराधीन है?
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »