एक भी मैच खेले बिना दिल्ली की टी-20 क्रिकेट टीम में चुन लिया गया सांसद पप्पू यादव का बेटा

नई दिल्ली। सांसद पप्पू यादव के बेटे सार्थक रंजन को इस सीजन में एक भी मैच खेले बिना दिल्ली की टी-20 क्रिकेट टीम में चुन लिया गया है। सार्थक के टीम में शामिल होने और अंडर-23 क्रिकेट के टॉप स्कोरर हितेन दलाल के टीम से बाहर होने से सभी हैरान हैं।
राजेश रंजन उर्फ पप्पू यादव बिहार के मधेपुरा से और उनकी पत्नी रंजीत बिहार के सुपौल से सांसद हैं।
अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को नजरअंदाज करने और प्रभावशाली नेता के बेटे को चुनने पर सलेक्शन कमेटी की काफी आलोचना हो रही है। सलेक्शन कमेटी के 3 सदस्य अतुल वासन, हरि गिडवानी और रॉबिन सिंह जूनियर हैं। मुश्ताक अली टूर्नामेंट में भी सार्थक को चुने जाने पर काफी विवाद हुए था। उस टूर्नामेंट में सार्थक ने तीन मैचों में 5, 3 और 2 रन ही बनाए थे। इस सीजन की शुरुआत में भी सार्थक को रणजी ट्रॉफी के संभावितों की लिस्ट में शामिल किया गया था लेकिन उन्होंने खुद ही अपना नाम वापस ले लिया था।
ये भी खबरें आई थीं कि सार्थक ने क्रिकेट छोड़ दिया है और अब वह मिस्टर इंडिया कॉन्टेस्ट में हिस्सा लेने के लिए तैयारी कर रहे हैं। अचानक, सीजन खत्म होते समय, सार्थक की मां रंजीत रंजन ने डीडीसीए के एडमिनिस्ट्रेटर जस्टिस विक्रमजीत सेन को एक ईमेल भेजा। रंजीत ने कहा कि उनका बेटा डिप्रेशन से परेशान था लेकिन अब वह खेलने के लिए पूरी तरह फिट है। जस्टिस सेन ने यह लेटर सलेक्टर्स को भेज दिया।
सलेक्शन कमेटी के सदस्य वासन ने कहा कि सार्थक की मानसिक हालत ठीक नहीं थी। जब वह फिट हो गया है तो मैंने व्यक्तिगत तौर पर उसे देखा और स्टैंडबाई लिस्ट में शामिल किया। हालांकि उस टूर्नामेंट में टॉप स्कोरर रहे हितेन दलाल को स्टैंडबाई खिलाड़ियों की लिस्ट में शामिल किए जाने पर विवाद बढ़ गया। दलाल ने सीके नायडू ट्रोफी में एक सेंचुरी और तीन हाफ सेंचुरी के साथ 468 रन बनाए। सार्थक के चुने जाने के सवाल पर जस्टिस सेन ने कहा कि हमें भरोसा है कि सलेक्शन कमेटी ने बिना किसी दबाव के टीम चुनी है। सार्थक पर लोगों का ध्यान उसके पिता की वजह से जा रहा है।
डीडीसीए के अधिकारी ने कहा कि हितेन जैसे खिलाड़ी, जिनके माता-पिता हेवीवेट पॉलिटिशन नहीं हैं, उन्हें ऐसे छोड़ देना ठीक नहीं है।
वहीं सार्थक की मां और सांसद रंजीत रंजन ने कहा कि यह कहना गलत है कि मेरे बेटे को बगैर खेले सलेक्ट कर लिया गया है। वह अंडर-14 से दिल्ली में खेल रहा है और उसकी कप्तानी में टीम चैंपियन भी बन चुकी है। उसने पिछले साल अंडर-23 के मैचों में 65, 40 और 193 रन का स्कोर किया है। मेरे बेटे के खिलाफ साजिश रची जा रही है। मैं उसके हरेक मैच का स्कोरशीट मुहैया करा सकती हूं।
-एजेंसी