5 बदलावों के लिए ”पद्मावत” में लगाने पड़ेंगे 300 से ज्यादा कट

मुंबई। संजय लीला भंसाली की बहुचर्चित फिल्म ‘पद्मावती’ का नाम बदलकर अब ‘पद्मावत’ किया जा चुका है। सेंसर बोर्ड की ओर से बताया गया था कि फिल्म में सिर्फ 5 बदलाव करने को कहा गया है लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि इन 5 बदलावों को पूरी तरह लागू करने के लिए फिल्म में 300 से ज्यादा कट करने पड़ जाएंगे। साथ ही फिल्म में जहां भी मेवाड़, दिल्ली और चित्तौड़ का जिक्र है, उसे भी पूरी तरह हटाया जाएगा। ऐसे में फिल्म 25 जनवरी को जब दर्शकों के सामने आएगी तो इसका स्वरूप पूरी तरह बदला हुआ होगा। इसे एक काल्पनिक कहानी के रूप में पेश किया जाएगा।
यह फिल्म लगभग एक साल से चर्चा में है। फिल्म में दीपिका पादुकोण कथित तौर पर रानी पद्मावती यानी पद्मिनी, शाहिद कपूर महारावल रतन सिंह और रणवीर सिंह अलाउद्दीन खिलजी की भूमिका में हैं। हालांकि डायरेक्टर को अब डिस्क्लेमर देना होगा जिसके आधार पर फिल्म की कहानी को काल्पनिक माना जाएगा।
फिल्म में जहां भी मेवाड़, दिल्ली और चित्तौड़ का उल्लेख है, उसे हटाया जाएगा। यानी जब दर्शक इस फिल्म को बड़े पर्दे पर देखेंगे तो लोगों को यह पता लगाना मुश्किल होगा कि वीरता और बहादुरी की कहानी जो वे देख रहे हैं, वह वास्तव में हुई कहां थी। न तो दर्शकों को रानी पद्मावती मिलेगी और न ही अलाउद्दीन खिलजी।
एक तरफ जहां फिल्म को दोबारा एडिट करने में एडिटर्स ने रात-दिन एक कर रखा है, वहीं फिल्म में जिन लोकेशन्स को काल्पनिक बताया जा रहा है वह सचमुच दर्शकों को काल्पनिक ही लगेंगी, इसका पता नहीं।
‘पद्मावत’ की तुलना अब अभिषेक चौबे की फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ से की जा रही है, जिसमें तत्कालीन सेंसर बोर्ड अध्यक्ष पहलाज निहलानी ने पंजाब, जालंधर, चंडीगढ़, अमृतसर, तरनतारन, लुधियानी और मोगा जैसी जगहों के नाम हटाने को कहा था। हालांकि फिल्म के निर्माताओं कोर्ट में लड़ाई जीत ली थी।
बता दें कि ‘पद्मावत’ पहले 1 दिसम्बर 2017 को रिलीज़ होनेवाली थी, जो कुछ समूहों के विरोध की वजह से टाल दी गई थी। फिल्म को शूटिंग के समय से ही कई तरह के विरोधों का सामना करना पड़ा। सेट पर डायरेक्टर भंसाली को थप्पड़ मारने से लेकर दीपिका की नाक-गर्दन काटने की धमकी तक, फिल्म ने कई विरोधों का सामना किया।
फिल्म की रिलीज को 2017 के आखिर में हिमाचल और गुजरात में हुए विधानसभा चुनाव से भी जोड़ा गया। चूंकि दोनों राज्यों में राजपूत समाज के वोटर बड़ी संख्या में थे इसलिए ज्यादातर राजनीतिक दलों ने फिल्म पर रोक लगाने की वकालत की। कई राज्यों ने फिल्म पर बैन लगा दिया। चुनाव संपन्न होने और नए साल शुरुआत के साथ ही फिल्म को लेकर थोड़ी उम्मीद जगी। खबर आई कि स्पेशल कमेटी के सहयोग से सेंसर बोर्ड (CBFC) की ओर से 5 संशोधनों के बाद U/A सर्टिफिकेट के साथ रिलीज की मंजूरी मिल गई। फैन्स, जो सिर्फ 5 बदलाव के बाद रिलीज़ को लेकर खुशियां मना रहे हैं, उन्हें अब यह जानकर झटका लगेगा कि फिल्म में 300 कट लगने वाले हैं।
बहरहाल, 300 कट्स के बाद फिल्म किस रूप में निकलकर सामने आती है, इसका पता अब 25 जनवरी को ही चलेगा। गौरतलब है कि इसी दिन अक्षय कुमार की फिल्म ‘पैडमैन’ भी रिलीज़ हो रही है।
-एजेंसी