खतरनाक हो सकता है जिंदगी में अधिक तनाव

अगर आप भी जिंदगी में अधिक तनाव लेने लगे हैं, तो संभल जाइए। यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है। डॉक्टरों के अनुसार, हाइपरटेंशन के अधिकतर मामलों के पीछे तनाव एक मुख्य वजह है। डॉक्टरों के अनुसार एक समय था जब इस समस्या से खास उम्र के लोग ही परेशान हुआ करते थे, मगर आज की दौड़ती-भागती जिंदगी से कदम से कदम मिलाकर चलने की होड़ में हर उम्र के लोग हाइपरेटेंशन के शिकार हो रहे हैं। बदलती लाइफस्टाइल का सीधा असर हमारे स्वास्थ्य पर पड़ रहा है।
क्या है हाइपरटेंशन?
हाइपरटेंशन यानी उच्च रक्तचाप वह स्थिति होती है, जब धमनियों में रक्त का दबाव बढ़ता है। इसके कई कारण हो सकते हैं, जिनमें तनाव, फास्ट फूड, व्यायाम की कमी, धूम्रपान का सेवन आदि शामिल है। सामान्य रक्तचाप का रेंज 120/80 MMHG होता है। हाइपरटेंशन बढ़ने से इसका असर शरीर के मुख्य अंगों जैसे, ब्रेन, किडनी, हृदय, आंख आदि पर होता है।
ये हैं लक्षण
सिर में दर्द, घबराहट, नाक से खून बहना, छाती में दर्द और ठीक से नींद न आना।
मोबाइल-लैपटॉप भी है वजह
लखनऊ के केजीएमयू के फिजियॉलजी विभाग के प्रफेसर नरसिंह वर्मा ने बताया कि वर्किंग क्लास में 60 प्रतिशत लोगों को हाइपरटेंशन होने का खतरा बना रहता है। इसका प्रमुख कारण लाइफस्टाइल में बदलाव और सही खानपान न होना है। इसके अलावा मोबाइल और कंप्यूटर के अधिक इस्तेमाल से भी हाइपरटेंशन के मरीज बढ़ रहे हैं। खासकर बच्चों में हाइपरटेंशन की समस्या तेजी से बढ़ा रही है। दरअसल, मोबाइल के अधिक प्रयोग से फिजिकल ऐक्टिविटी कम हो जाती है, जिससे रक्तचाप की समस्या का खतरा अधिक रहता है।
6 महीने में एक बार चेक कराएं बीपी
केजीएमयू सीसीयू के प्रफेसर अविनाश अग्रवाल ने बताया कि हाइपरटेंशन से बचने के लिए 40 की उम्र पार करने वाले व्यक्तियों को 6 महीने में एक बार बीपी जरूर चेक करवाना चाहिए। इसके अलावा अगर आपको घबराहट महसूस हो तो तत्काल जांच करवा सकते हैं। इसके अलावा अगर परिवार के सदस्यों को बीपी की समस्या है तो ऐसे लोगों को अधिक सतर्क रहने की जरूरत है।
खाने में 3 ग्राम नमक घटाएं
फरीदाबाद के क्यूआरजी अस्पताल के डॉ. गजिंद्र गोयल ने बताया कि खाने में नमक का अधिक मात्रा में होना हाई बीपी होने का मुख्य कारण है। जो लोग पैक्ड फूड, रेस्तरां का खाना और फास्ट फूड के शौकीन हैं, उन्हें अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। डॉ. गोयल बताते हैं कि न्यू इंग्लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार अगर हम रोजाना खाने वाली चीजों से 3 ग्राम नमक घटाकर सेवन करें, तो सेहत में काफी सुधर आएगा। साथ ही इससे हृदय रोग, स्ट्रोक व हार्ट अटैक की आशंका एक तिहाई कम हो जाएगी।
ऐसे करें बचाव
– धूम्रपान और शराब के सेवन से बचें।
– हरी-सब्जियों और फलों का सेवन करें।
– कम फैट वाले डेयरी प्रॉडक्ट्स को डायट में शामिल करें।
– रोजना करीब एक घंटे तक व्यायाम करें।
– भोजन में नमक की मात्रा कम रखें।
– जिन लोगों के परिवार के सदस्यों को हाई बीपी की समस्या है, उन्हें नियमित रूप से बीपी चेक कराना चाहिए।
– शरीर को ऐक्टिव रखें और अपना वजन घटाएं।
– रोजाना मॉर्निंग वॉक या रनिंग की आदत डालें।
– फैमिली के साथ अच्छा समय बिताएं। इससे आप हाइपरटेंशन और इससे होने वाली बीमारियों से दूर रह सकते हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »