post office की मंथली इनकम स्कीम में निवेश से हर महीने इनकम

नई दिल्‍ली। इंडियन post office यानी भारतीय डाकघर में काफी सारी कमाल की स्कीम्स चलती हैं। सेविंग अकाउंट से लेकर एफडी तक ऐसी तमाम स्कीम हैं जहां पर बेहतर रिटर्न मिलता है। लेकिन अगर आप किसी ऐसे निवेश विकल्प की तलाश में हैं जहां आपको एक नियमित मासिक इनकम होती रहे तो भी डाकघर (पोस्ट ऑफिस) की एक योजना आपकी मदद कर सकती है। हम अपनी इस खबर में आपको उसी स्कीम के बारे में विस्तार से जानकारी देने जा रहे हैं।

post office मंथली इनकम स्कीम अकाउंट (एमआईएस): नियमित आय के किसी निवेश विकल्प की तलाश में हैं तो डाकघर की ये स्कीम आपकी तलाश को पूरा करती है। इसके लिए आपको डाकघर में अपना खाता खुलवाना होगा। इस स्कीम में 7.3 फीसद की दर से ब्याज दिया जाता है।

एमआईएस के बारे में

इस खाते को कोई भी व्यक्ति खोल सकता है।
इस खाते को नकद या चेक के माध्यम से खुलवाया जा सकता है।
इस खाते में नॉमिनेशन की सुविधा भी उपलब्ध करवाई जाती है।
खाते को एक डाकघर से दूसरे डाकघर में ट्रांसफर भी करवाया जा सकता है।
कोई भी व्यक्ति इस तरह के कितने भी खाते खोल सकता है, हालांकि इसमें अधिकतम निवेश की सीमा है।
इसमें एक या दो लोग मिलकर साझा खाता (ज्वाइंट अकाउंट) भी खोल सकते हैं।
सिंगल अकाउंट को भी ज्वाइंट अकाउंट में बदला जा सकता है।
इस खाते का मैच्योरिटी पीरियड 5 वर्षों का होता है।
एक साल बीत जाने के बाद भी कुछ राशि की निकासी की जा सकती है।
इस खाते की शुरुआत मिनिमम 1500 रुपये के निवेश से की जा सकती है।
अकेला व्यक्ति इसमें 4.5 लाख रुपये तक का निवेश कर सकता है, वहीं ज्वाइंट अकाउंट की सूरत में यह राशि 9 लाख हो सकती है।
ऐसे होगी मासिक आय: जैसा कि डाकघर की इस स्कीम में 7.3 फीसद की दर से सालाना ब्याज दिया जाता है। इस सालाना ब्याज को 12 महीनों में बांट दिया जाता है, जो कि आपको मासिक आधार पर दिया जाता है। मान लीजिए आपने 4.5 लाख रुपए जमा किए हैं तो आपको मिलने वाला सालाना ब्याज 32850 (450000×7.3/100=32,850) होगा। यानी आपको हर महीने 2737.5 रुपये सिर्फ ब्याज के मिलते रहेंगे।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »