Mohsin Raza ने कहा- मुसलमानों को शिक्षा और रोजगार से और जोड़ने का प्रयास

मथुरा। उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक कल्याण राज्य मंत्री Mohsin Raza ने आज बताया कि इसके लिए मदरसों की शिक्षा को इस प्रकार बनाया जा रहा है कि उनमें पढ़ने वाले बच्चों को धार्मिक शिक्षा भी मिले साथ ही गणित, विज्ञान जैसे विषय भी अन्य स्कूलों की तरह पढ़ाए जायें।

उत्तर प्रदेश सरकार मुसलमानों को मुख्य धारा से जोड़ने के लिए उनकी शिक्षा और रोजगार को ओर प्रभावी बनाने का प्रयास करेगी।

इसे मोटे रूप में यह भी कहा जा सकता है प्रधानमंत्री मोदी के सपनों के अनुरूप सरकार उनके एक हाथ में जहां कुरान देना चाहती है तो दूसरे में लैपटाप देना चाहती है। सरकार उनकी शिक्षा में मदरसों की धार्मिक शिक्षा में आधुनिक ज्ञान और विज्ञान को जोड़ना चाहती है।

Mohsin Raza ने बताया कि प्रदेश सरकार अल्पसंख्यक बालिकाओं की शिक्षा को भी प्रभावी बनाने जा रही है। उन्हें सामाजिक बंधन से निकाला जाएगा। इसके तहत उन एनजीओ की मदद भी ली जाएगी जो महिलाओं द्वारा संचालित है एवं बालिका शिक्षा में काम कर रही हैं। इसके तहत विज्ञापन निकालकर पढ़ने की इच्छुक बालिकाओं को उनकी सुरक्षा का भरोसा दिलाकर पहले आगे लाएंगे, उनकी शिक्षा की व्यवस्था बेहतर बनाकर ही अन्य बालिकाओं को इस योजना से जोड़ेंगे। ऐसी बालिकाओं की शिक्षा की व्यवस्था सरकारी बालिका विद्यालयों या अन्य सरकारी स्कूलों में अलग से की जाएगी।

एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने कहा कि सरकार अशिक्षित बेरोजगारों को शिक्षा देकर उन्हें स्वरोजगार के लिए प्रेरित करेगी। अल्पसंख्यक किशोरों या अधिक आयु के किशोरों को स्वरोजगार के साथ साथ शिक्षा भी दी जाएगी। उन्हें जहां कौशल विकास मिशन से किसी हुनर से जोड़ा जाएगा वहीं उन्हें मुद्रा योजना के तहत ऋण दिलाने की व्यवस्था की जाएगी। Mohsin Raza ने आगे कहा कि इसके साथ ही  उन्हें शिक्षा देने की व्यवस्था भी की जाएगी क्योंकि एक शिक्षित मुसलमान समाज के लिए वरदान बनता है।
– एजेंसी