भदोही में मोदी ने कहा: देश ने अब तक नामपंथी, वामपंथी, और दामपंथी संस्कृति को ही देखा था

भदोही। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज यूपी के भदोही में महागठबंधन और कांग्रेस पर जमकर हमले किए। पीएम ने कहा कि देश ने नामपंथी, वामपंथी, दाम और दमनपंथी संस्कृति को देखा था लेकिन उन्होंने विकासपंथी कल्चर लाया।
भदोही में अपनी सभा के दौरान पीएम ने सर्जिकल स्ट्राइक की तारीफ की तो कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर अपने करीबियों और बिजनेस पार्टनरों को रक्षा सौदे दिलाने का आरोप भी लगाया। इसके अलावा पीएम ने एसपी-बीएसपी की पूर्ववर्ती सरकारों पर समाज को जाति और पंथ के नाम पर बांटने का आरोप लगाते हुए उनकी आलोचना की। खासकर अखिलेश और मायावती के शासनकाल में हुए घोटालों का जिक्र कर कहा कि उनकी सरकार पर 5 साल में भ्रष्टाचार के एक भी आरोप नहीं लगे।
‘देश ने देखी नामपंथी और दमनपंथी राजनीति’
विपक्ष की आलोचना करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, ‘जब सिर्फ देश का विकास करने की इच्छाशक्ति के साथ सरकार चलाई जाती है तो इसी तरह का परिवर्तन आता है। हमारे देश में आजादी के बाद चार अलग तरह की सरकार, राजनीति और कल्चर देखने को मिले। पहला है नामपंथी, दूसरा वामपंथी, तीसरा दाम और दमनपंथी और चौथा हम लेकर आए हैं विकासपंथी। नामपंथी यानी जो अपने वंश के नेता का नाम जपते रहते हैं। वामपंथी जो विदेश की विचारधारा को भारत पर थोपते हैं। दाम और दमनपंथी वह जो धन और बाहुबल के नाम पर देश पर कब्जा करने की सोच रखते हैं और विकासपंथी वह जिसके लिए 130 करोड़ लोगों का कल्याण प्राथमिकता होता है।’
‘नामदार ने दिलाए करीबियों को रक्षा सौदे’
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा, ‘कांग्रेस के नामदार ने अपने दोस्त को रक्षा सौदे दिलाए लेकिन इनको नहीं याद रहा कि किसी गरीब का घर बनवा दें या उसके घर बिजली पहुंचा दें। लेकिन यही लोग अपने बिजनेस पार्टनर के लिए लंदन से दिल्ली तक दौड़ते रहे। इन्हीं लोगों को अमेठी और रायबरेली के लोगों ने अपने क्षेत्र से हटाने का संकल्प लिया है।’ वहीं एसपी-बीएसपी पर कटाक्ष करते हुए पीएम ने कहा कि जब इन्हें सत्ता मिलती है तो यह लोग शहरों के नाम पर बिजली सप्लाई में भी मतभेद करते हैं लेकिन हम 24 घंटे सभी को बिजली वितरित करने के लिए काम करते हैं।
बता दें कि वित्त मंत्री अरुण जेटली ने शनिवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को ‘डिफेंस डील पुशर’ बताते हुए बेहद गंभीर आरोप लगाए थे। जेटली ने दावा किया कि यूपीए के शासनकाल में राहुल ने अपनी प्रमुख हिस्सेदारी वाली एक ब्रिटिश कंपनी बैकऑप्स के अपने पार्टनर को स्कार्पिन पनडुब्बियों के करार में ऑफसेट कॉन्ट्रैक्ट दिलाया था।
पीएम ने भ्रष्टाचार को लेकर विपक्ष की आलोचना करते हुए कहा कि इनकी सरकारों में ऐम्बुलेंस घोटाला, एनआरएचएम घोटाला और भ्रष्टाचार होते हैं और हमे सत्ता मिलती है तो हम आयुष्मान भारत और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना जैसी योजना को सब तक पहुंचाने का काम करते हैं। पीएम ने भाषण की शुरुआत में कहा कि आज दुनिया भर में भारत का सम्मान हो रहा है और भारत की बात मानी जा रही है। सऊदी अरब से रूस तक हर देश भारत को अपना सबसे बड़ा सम्मान दे रहा है। जब यह खबर आपके पास आती है तो आपको गर्व होता है और लोगों के मन से अपने आप भारत माता की जय का स्वर निकलता है, यही ताकत हिंदुस्तान की है। हमारे देश में अगर कोई आतंकी हमला होता है तो आपको दुख होता है या नहीं। हमला कश्मीर में होता है और आंसू भदोही में निकलते हैं और हर किसी को दर्द होता है। जब हमारे वीर जवान का शरीर तिरंगे में लिपटकर आता है तो देशभर को दर्द होता है।
पीएम ने कहा कि जब आतंकी हमले के जवाब में सर्जिकल स्ट्राइक होती है तो आपको गर्व होता है और सरकार सही कर रही है ऐसा लगता है या नहीं? आप मुझे बताइए कि क्या मोदी का रास्ता सही है या नहीं। भारत ने अंतरिक्ष में सैटलाइट को मिसाइल से उड़ा दिया, यह आप सभी को अच्छा लगा और गर्व हुआ या नहीं। जब लोगों ने इसका जवाब हां में दिया तो पीएम ने कहा कि यही तो देश की ताकत होती है। क्या हमारे देश के इतने पराक्रम के बाद किसी देश ने कोई विरोध नहीं किया क्योंकि जब आप लोगों के हितों को ध्यान में रखकर काम करते हैं तो नामुमकिन भी मुमकिन हो जाता है।
‘कामयाबी मानने को तैयार नहीं हैं महामिलावटी’
पीएम मोदी ने जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को यूएन द्वारा वैश्विक आतंकी घोषित किए जाने को देश की बड़ी कामयाबी करार दिया। उन्होंने कहा, ‘दो-तीन दिन पहले दुनिया की सबसे बड़ी संस्था ने भारत में सैकड़ों की जान लेने वाले मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित कर दिया। इस घोषणा के बाद मसूद को दावत खिलाने वाले पाकिस्तान को भी कार्रवाई के लिए मजबूर होना पड़ेगा। यह भारत की ताकत का असर है, लेकिन मैं उन महामिलावटी दलों का क्या करूं जो भारत की कामयाबी को मानने के लिए तैयार नहीं हैं। यह महामिलावटी कह रहे हैं कि देश में चुनाव था इसलिए मोदी ने मसूद अजहर पर बैन लगवा दिया। हर चीज को चुनावी नजर से देखने पर ही कांग्रेस और उसके साथियों की यह हालत हो गई है।’
कांग्रेस के शासनकाल पर पीएम ने उठाए सवाल
पीएम मोदी ने कहा, ‘आज दुनिया में भारत की गूंज सुनाई दे रही है तो इसके पीछे मोदी कारण नहीं, बल्कि आपके वोट की ताकत है। पीएम ने कहा कि साख अच्छी हो तो बहुत कुछ आसान हो जाता है लेकिन 2014 से पहले देश में ऐसी सरकार आई और कांग्रेस ने जो सरकार चलाई उसने देश की साख का ऐसा हाल करके रखा था कि दुनिया हमारी साख मानने को तैयार नहीं थी। हजारों-लाखों करोड़ के घोटाले, भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन, सत्ता में बिचौलिए और दलालों का राज देखने को मिलता था। लेकिन आपके इस चौकीदार ने सबकुछ बंद कर दिया।’
जाति ,पंथ के नाम पर लड़ाते हैं एसपी-बीएसपी: मोदी
पीएम ने कहा, ‘कांग्रेस, एसपी-बीएसपी ने हमेशा लोगों को जाति-पंथ के नाम पर लड़ाया। इन लोगों ने सिर्फ अपना और अपनी पार्टियों का विकास किया है, इनका जीवन कैसा था और आज यह कैसी जिंदगी जी रहे हैं सबको यह देखना चाहिए। मैं लंबे समय तक सीएम रहा हूं और गुजरात जैसे समृद्ध राज्य का सीएम रहा हूं। 5 साल से प्रधानमंत्री बनाया है, लेकिन आज भी मेरे खिलाफ कोई दाग नहीं। मैं पूछना चाहता हूं कि क्या मेरे विदेशी बंगले, फार्म हाउस और संपत्ति की चर्चा होती है?’
लोगों ने इसका जवाब नहीं में दिया, जिस पर पीएम ने कहा, ‘इन सब लोगों को देखिए, जिन्हें दो-पांच साल का मौका मिलता है तो इनके सभी रिश्तेदार और परिवार के लोग मालामाल हो जाते हैं। मैं भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ता हूं तो इस देश के गरीबों के लिए लड़ता हूं। आज मोदी को सुनने के लिए आप धूप में क्यों खड़ें हैं, क्योंकि देश जिस ईमानदारी और समर्पण की तलाश में था उसके लिए सरकार काम कर रही है। विरोधी परेशान हैं कि मोदी को कुछ नहीं होता, लेकिन मैं उन्हें कहना चाहता हूं कि मोदी के साथ 130 करोड़ जनता खड़ी है उसे कुछ नहीं होगा।’
‘कभी कट्टर दुश्मन थे बुआ और बबुआ’
सभा में मुस्लिम महिलाओं को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि मैं मुस्लिम बहनों को यह बात कहना चाहता हूं कि आज दुनिया के कई देशों में तीन तलाक की परंपरा नहीं है और वहां तीन तलाक के नाम पर बेटियों को बर्बाद नहीं किया जाता। हम भारत की मुस्लिम बहनों को भी वही अधिकार देना चाहते हैं और इसके लिए संसद में कानून लाया गया है। हम धर्म की भावना को आहत नहीं करना चाहते, लेकिन संविधान के अनुसार सबको अधिकार समान रूप से देना चाहते हैं।
उन्होंने कहा कि तीन तलाक को रोकने के लिए महामिलवाटी लोग दिन रात काम कर रहे हैं। यह लोग कितने मौका परस्त हैं इसे याद रखना होगा। जब बुआ-बबुआ एक दूसरे के दुश्मन थे, तब उसी दौर में इस जिले का नाम संत रविदास नगर रखा गया था। लेकिन बुआ के बबुआ ने अहंकार में इस जिले के नाम से संत रविदास का नाम हटा दिया। आज देखिए, बुआ अपने उसी बबुआ के लिए वोट मांग रही हैं।
व्यापारियों के लिए कल्याण बॉन्ड लाएगी सरकार: PM
भाषण के अंत में पीएम ने कालीन उत्पादन के क्षेत्र में सरकार द्वारा तमाम मदद दिए जाने की बात कही। इसके अलावा जीएसटी के मुद्दे पर व्यापारियों को साधने की कोशिश भी की और कहा कि व्यापारियों के सुझाव पर जीएसटी काउंसिल नियमों को आसान बना रही है। पीएम मोदी ने कहा कि 23 मई को सरकार में वापसी के बाद हमारी सरकार राष्ट्रीय व्यापारी कल्याण बॉन्ड बनाएगी और केंद्र सरकार में व्यापारियों के लिए अलग विभाग बनेगा।
एक बार फिर से मोदी सरकार की अपील करते हुए पीएम ने कहा, ‘भारत का महामिलावट से नहीं, नेक नीयत की नीति से विकास हो सकता है। यह तभी होगा जब आप कमल के बटन पर वोट दबाएंगे। मुझे खुशी होगी कि मेरे साथी मुझसे ज्यादा वोट से जीतें, इसके लिए आप सबको अपना बूथ मजबूत करना होगा।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »