Surgical strike की दूसरी सालगिरह को बड़े पैमाने पर मनाएगी मोदी सरकार

नई दिल्ली। मोदी सरकार Surgical strike की दूसरी सालगिरह को बड़े पैमाने पर मनाएगी। इस बार न सिर्फ सरकारी स्तर पर बड़ा आयोजन होगा, बल्कि देशभर के तमाम स्कूलों और कॉलेजों में इससे जुड़े समारोह होंगे। 29 सितंबर को पाकिस्तान के खिलाफ हुई Surgical strike और आतंकवाद पर जीत का जश्न मनाया जाएगा।
सूत्रों के अनुसार आम चुनाव 2019 से पहले देश में राष्ट्रवाद की भावना को मजबूत करने के लिए मोदी सरकार और बीजेपी ने Surgical strike की दूसरी सालगिरह के बहाने इस पराक्रम की चर्चा करेगी।
सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसमें खुद रुचि ले रहे हैं। पीएमओ ने रक्षा, मानव संधाधन, सूचना और प्रसारण मंत्रालय और कार्मिक मंत्रालयों को इन समारोह को देश के तमाम इलाकों तक पहुंचाने को कहा है।
सूत्रों के अनुसार देश के लगभग एक हजार शिक्षण संस्थानों में 29 सिंतबर को कार्यक्रम होंगे और छात्रों को इस पराक्रम के बारे में बताया जाएगा। इन कार्यक्रमों में देश की रक्षा के लिए सेना में शामिल होने के बारे में प्रोतसहित किया जाएगा।
पीएमओ ने कहा कि ऐसे मौकों से नई पीढ़ी में देश के प्रति कुछ करने का जज्बा पैदा किया जा सकता है, जिसके बाद वे सेना में जाने के लिए प्रेरित हो सकते हैं।
सूत्रों के अनुसार शिक्षण संस्थानों में इसका आयोजन करने के अलावा बीजेपी भी अपने स्तर पर पूरे देश में इसका आयोजन करेगी। सर्जिकल स्ट्राइक पर हो रहे सेलिब्रेशन में इस बात को बताया जाएगा कि मौजूदा मोदी सरकार ने किस तरह सेना को पराक्रम करने के लिए उनके हिसाब से छूट दी, जिसके बाद मनमाफिक परिणाम आए।
इसमें बताया जाएगा कि पीएम मोदी का मजबूत नेतृत्व राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मसलों पर कितना कारगर साबित हुआ है।
सूत्रों के अनुसार हालांकि पूरे आयोजन को गैर राजनीतिक बनाया गया है लेकिन इससे जो संदेश निकलेगा उसका स्वाभाविक लाभ सरकार और पार्टी को होगा। मालूम हो कि पिछले चार साल के शासन के दौरान राष्ट्रवाद मोदी सरकार की मजबूत थीम रहा है और सरकार और पार्टी ने साफ संकेत दिया है कि वे इस मुद्दे पर आम चुनाव में लोगों के बीच जाएगी।
इसके अलावा पीएम मोदी इस बार भी दिवाली के मौके पर सेनाओं के साथ दिन बिताने की परंपरा जारी रख सकते हैं। अपने चार साल के शासन में पीएम मोदी ने हर साल अपनी दिवाली सरहद पर सेनाओं के बीच मनाई है।
दिखाए जाएंगे Surgical strike में इस्तेमाल हुए हथियार
अगर आप भी Surgical strike में इस्तेमाल हुए हथियार देखना चाहते हैं तो 28 से 30 सितंबर तक इंडिया गेट पर जा सकते हैं। यहां सर्जिकल स्ट्राइक की सेकंड ऐनिवर्सरी सेलिब्रेशन में ये हथियार दिखाए जाएंगे।
Surgical strike के हथियारों के साथ आतंकियों के हथियार भी
एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक में भारतीय जवानों ने ट्रिवोर असॉल्ट राइफल का इस्तेमाल किया था। यह एक इजरायली असॉल्ट राइफल है जिसमें फायर सिस्टम सेमी ऑटोमेटिक मोड या फुल ऑटोमेटिक मोड में सिलेक्ट कर सकते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक में डिस्पोजेबल रॉकेट लॉन्चर का भी इस्तेमाल हुआ था। इसमें रॉकेट लॉन्च होने के बाद पीछे बस एक कवर बच जाता है जिसे फेंक दिया जाता है। इसमें रॉकेट लॉन्चर को रॉकेट लॉन्च करने के बाद भी ढोने की जरूरत नहीं होती। इसके साथ ही मल्टिपल ग्रेनेड लॉन्चर का भी सर्जिकल स्ट्राइल में हमारे जवानों ने इस्तेमाल किया था। ये सभी हथियार इंडिया गेट पर रखे जाएंगे।
हाईग्रेड नाइट विजन डिवाइस भी सर्किल स्ट्राइल में इस्तेमाल हुआ अहम उपकरण था। इसे भी इंडिया गेट में पब्लिक डिस्प्ले में रखा जाएगा। एक अधिकारी के मुताबिक उन हथियारों को भी पब्लिक के लिए डिस्प्ले किया जाएगा जिन्हें अलग अलग मौकों पर आतंकवादियों से रिकवर किया गया है। इसमें एके राइफल के साथ ही यूनिवर्सल मशीन गन, पिका मशीन गन शामिल हैं। सेना के जवान यहां लोगों को इन हथियारों के बारे में बताएंगे भी और लोगों के सवालों का जवाब देंगे।
हर मिलिट्री स्टेशन में होगा प्रोग्राम
एक सीनियर अधिकारी के मुताबिक सर्जिकल स्ट्राइक ऐनिवर्सरी पर हर मिलिट्री स्टेशन पर भी कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिसमें पब्लिक भी भागीदार होगी। इंडिया गेट में होने वाले कार्यक्रम में रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण रहेंगी और वह स्कूली बच्चों और एनसीसी कैडेट्स के साथ बातचीत करेंगी। इंडिया गेट के अलावा देश भर में करीब 30 जगहों पर कार्यक्रम होंगे।
लोकसभा चुनाव से पहले सर्जिकल स्ट्राइल ऐनिवर्सरी को इस तरह बड़े स्तर पर मनाने को सरकार के राजनीतिक कदम के तौर पर भी देखा जा रहा है। सवाल इसलिए भी उठ रहे हैं कि पहली ऐनिवर्सरी को बस आर्मी के भीतर ही मनाया गया और दूसरी ऐनिवर्सरी क्योंकि चुनाव से ठीक पहले है इसलिए इसे बड़े स्तर पर मनाया जा रहा है। हालांकि सेना के एक अधिकारी ने कहा कि हम यह इसलिए कर रहे हैं ताकि सबको बताएं कि हमारी कैपिबिलिटी कितनी है और यह हमारे ढृढ़निश्चय को दिखाता है। साथ ही यह पाकिस्तान को भी संदेश देगा कि हम पहले यह कर चुके हैं और जरूरत पड़ने पर आगे भी कर सकते हैं।
सेल्फी पॉइंट्स से लेकर आर्मी बैंड तक
इंडिया गेट पर सेल्फी पॉइंट बनाया जाएगा जहां भारतीय सेना के जवान के कटआउट में अपना चेहरा फिट कर लोग सेल्फी ले सकते हैं साथ ही हथियारों से लैस जवानों के साथ भी लोग फोटो खींच सकते हैं। सेल्फी पॉइंट ऐसे बनाया जाएगा ताकि हर तस्वीर के पीछे बैकग्राउंड में इंडिया गेट दिखाई दे। यहां आर्मी बैंड भी होगा और मार्शल धुन बजेगी। शाम को म्यूजिकल शो होगा जिसमें कई बॉलिवुड सिंगर शिरकत करेंगे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »