लखनऊ में मोबाइल इंटरनेट सेवा 25 दिसंबर की रात 8 बजे तक बंद

लखनऊ। यूपी की राजधानी लखनऊ में मोबाइल इंटरनेट बैन की पाबंदी एक बार फिर बढ़ा दी गई। अब लखनऊ में इंटरनेट सेवा 25 दिसंबर को रात 8 बजे तक बंद रहेगी। इससे पहले सोमवार रात 12 बजे से कई ऑपरेटर ने इंटरनेट सेवा शुरू कर दी थी लेकिन मंगलवार सुबह मोबाइल से इंटरनेट नेटवर्क एक बार फिर गायब हो गए तो लोग मायूस होने लगे। लखनऊ के अलावा बुलंदशहर, संभल, मुजफ्फरनगर में भी आज सुबह 10 बजे 25 दिसंबर की रात 8 बजे तक मोबाइल इंटरनेट बंद रहेगा। कानपुर में इंटरनेट सेवाएं शुरू हो गई हैं, हालांकि स्कूल-कॉलेज फिलहाल बंद हैं।
लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने नोटिफेकिशन जारी करके बताया कि लखनऊ में मोबाइल इंटरनेट सेवा 25 दिसंबर को रात 8 बजे तक बंद रहेगी। राजधानी में पांच दिनों से बंद मोबाइल इंटरनेट व एसएमएस सर्विस सोमवार को भी शुरू नहीं हुई। सोमवार रात करीब 11.30 बजे ऑपरेटरों को बुधवार रात 8 बजे तक प्रतिबंध बढ़ाने का मौखिक आदेश दे दिया गया। ऐसे में क्रिसमस पर सोशल मीडिया पर बधाई देने वालों की उम्मीदों पर पानी फिर गया है। मोबाइल इंटरनेट बंद होने की वजह से लोगों को काफी मुश्किलें आ रही हैं। बता दें कि बीएसएनएल के उपभोक्ताओं की सुविधाएं जारी हैं।
ऐप से जनरल टिकट बनाना भी हुआ मुश्किल
मोबाइल ऐप से बनने वाले टिकटों की रफ्तार थम गई है। 19 से 23 दिसंबर के बीच महज 12 हजार जनरल टिकट बन सके हैं। आईआरसीटीसी की वेबसाइट से भी टिकट कम बन रहे हैं। ऐसे में लोग काउंटर जाने को मजबूर हैं।
बिजली उपभोक्ता परेशान 
शहर में चार दिन से इंटरनेट बंद होने से हजारों बिजली उपभोक्ताओं को परेशानी झेलनी पड़ रही है। जो लोग घर बैठे बिजली बिल जमा कर लेते थे, उन्हें भी इसके लिए उपकेंद्रों पर कतार में लगना पड़ रहा है। यही नहीं, मेसेज सुविधा बंद रहने के दौरान बिलिंग भी प्रभावित है। स्मार्ट मीटर वाले उपभोक्ताओं के मोबाइल पर बिल की जानकारी भी नहीं पहुंच रही है।
ऑनलाइन बिल नहीं जमा करा पा रहे लोग
लेसा इंजिनियरों के मुताबिक शहर में करीब करीब तीन लाख उपभोक्ता ऑनलाइन ही बिल जमा करते हैं। इनमें आधे ऐसे हैं, जिनकी बिल जमा करने की आखिरी तारीख महीने के दूसरे और तीसरे हफ्ते में होती है। ऐसे में पिछले चार दिन से इंटरनेट बंद होने से ऐसे उपभोक्ता ऑनलाइन बिल नहीं जमा कर सके। यही कारण है कि रविवार के बाद सोमवार को कई उपकेंद्रों पर बिल जमा करने वालों की लंबी कतार लगी रही।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *