Puran Prakash ने किया रसखान की कथित समाधि का निरीक्षण

मथुरा। बलदेव क्षेत्र के विधायक Puran Prakash ने उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी के पूर्व उपाध्यक्ष पद्मश्री मोहन स्वरूप भाटिया तथा ब्रज यात्रा सेवा संस्थान के राष्‍ट्रीय संयोजक एवं संस्कार भारती के महामंत्री अनुपम गौतम की उपस्थिति में अपने क्षेत्र में महावन स्थित तथाकथित रसखान समाधि का निरीक्षण किया।

रसखान की तथाकथित समाधि पर रसखान का नाम भी नहीं
विदेषी पर्यटकों के लिए सात करोड़ से इन्टरप्रिटेंषन सेन्टर का निर्माण
पैरों तलें रौंदे जा रहे शिलान्यास पत्थरों को देखा बलदेव क्षेत्र के विधायक पूरन प्रकाश ने

विधायक पूरन प्रकाश ने कहा कि यह आश्‍यर्य है कि समाधि पर रसखान का नाम, जन्म तिथि तथा निधन तिथि अंकित नहीं है, सम्पूर्ण परिसर में केवल दो बोर्डों पर रसखान का परिचय अंकित है जिसमें लिखा गया है कि रसखान की समाधि यमुना के सुरम्य तट पर स्थित है जब कि यमुना यहाँ से कोसों दूर है।

विधायक पूरन प्रकाश ने समाधि के निकट ‘इन्टरप्रिटेशन सेंटर’ के गलियारे में पैरों से रौंदे जा रहे उन तीन पत्थरों को भी देखा जिसमें अंकित था-

MLA Puran Prakash inspected the so-called samadhi of Raskhan
MLA Puran Prakash inspected the so-called samadhi of Raskhan

पर्यटन विभाग उत्तर प्रदेश एवं उ0 प्र0 तीर्थ विकास परिषद, मथुरा के अन्तर्गत जनपद मथुरा में गोकुल स्थित रसखान समाधि में इण्टरप्रिटेशन सेंटर का पुनर्विकास तथा जन सुविधा केन्द्र का निर्माण कार्य लागत रू0 321.67 लाख का शिलान्यास योगी आदित्य नाथ माननीय मुख्य मंत्री उत्तर प्रदेश सरकार के कर कमलों द्वारा मा. सांसद श्रीमती हेमा मालिनी, मा. मंत्री ऊर्जा विभाग उ. प्र. पं. श्रीकान्त शर्मा, मा. मंत्री, दुग्ध विकास, अल्पसंख्यक कल्याण मुस्लिम वक्फ, संस्कृति एवं धर्मार्थ कार्य विभाग, उ. प्र. श्री लक्ष्मीनारायण चौधरी,
एवं श्री पूरन प्रकाश, मा. विधायक, बल्देव की गरिमामयी उपस्थिति में शुक्रवार, दिनांक 31 अगस्त 2017 को सम्पन्न हुआ।

इसके नीचे लिखा है कार्यदायी संस्था- मथुरा-वृन्दावन विकास प्राधिकरण का नाम।

उन्होंने बताया कि इस पत्थर में अंकित है कि मुख्य मंत्री योगी आदित्यनाथ आदि के साथ उनकी उपस्थिति में 31 अगस्त 2018 को शिलान्यास सम्पन्न हुआ जब कि उनकी जानकारी में ऐसा कोई कार्यक्रम नहीं हुआ।

विधायक पूरन प्रकाष ने कहा कि शिलान्यास पत्थर में अंकित ‘इन्टरप्रिटेशन सेन्टर’ के निर्माण पर तीन करोड़ 21 लाख सड़सठ हजार रुपये व्यय होना लिखा गया है और इसे उच्चीकृत करने के लिए तीन करोड़ तैतीस लाख रुपये की राशि और स्वीकृत की गई है अर्थात् सेंटर पर लगभग करोड़ रूपये व्यय होंगे।

समाधि स्थल निकट बैठे एक साधु नित्यानन्द ने विधायक पूरन प्रकाश को बताया कि वह यहाँ तीन वर्षों से रह रहे हैं। यहाँ समाधि देखने के लिए कोई नहीं आता है, रातको शराबी शराब पीने के लिए आते हैं। विधायक पूरन प्रकाश के एक प्रश्‍न के उत्तर में साधु बाबा ने बताया कि यहाँ न तो किसी विभाग का कर्मचारी और न चौकीदार नियुक्त है। बाबा ने कहा कि न पानी की व्यवस्था है और न बिजली की, बस एक हैन्डपम्प लगा हुआ है।

विधायक पूरन प्रकाष ने कहा कि वह मुख्य मंत्री योगी आदित्य नाथ से रसखान समाधि की प्रामाणिकता और ‘इण्टरप्रिटंेषन सेन्टर‘ की सार्थकता के सम्बन्घ में जाँच की माँग करेंगे।

मोहन स्वरूप भाटिया और अनुपम गौतम ने विधायक पूरन प्रकाश से कहा कि वह परासौली स्थित सूरकुटी पर अन्तर्राष्‍ट्रीय स्तर के स्मारक निर्माण हेतु भी मुख्य मंत्री से अनुरोध करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »