बेमेल चीजों को एकसाथ खाना बन सकता है गंभीर बीमारियों की वजह

इस बात से तो हम सब वाकिफ हैं कि शरीर को हेल्दी रखने के लिए फलों और सब्जियों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करना चाहिए लेकिन अगर आप 2 फलों को एक साथ खा रहे हैं तो यह आपके लिए जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि इन फलों को साथ में खाना चाहिए या नहीं।
कई बार कुछ फल और सब्जियां ऐसे होते हैं जिनका आपस में कोई मेल नहीं होता। इस तरह के बेमेल चीजों को खाना न सिर्फ अस्वास्थ्यकर है बल्कि पेट की गंभीर बीमारियों की वजह भी बन सकता है।
ये वो फल और सब्जियां हैं जिन्हें एक साथ नहीं खाना चाहिए-
संतरा और गाजर
संतरा और गाजर ये 2 ऐसे फल हैं जिन्हें कभी भी एक साथ नहीं खाना चाहिए। इन्हें साथ में खाने से न सिर्फ सीने में जलन की शिकायत होती है बल्कि किडनी भी डैमेज हो सकती है।
पपीता और नींबू
पपीता और नींबू का कॉम्बिनेशन इतना खतरनाक है कि इससे अनीमिया होने का खतरा रहता है। साथ ही शरीर में हीमॉग्लोबिन का असंतुलन हो जाता है।
इतना ही नहीं, पपीता औऱ नींबू को साथ में खाना बच्चों के लिए बेहद खतरनाक हो सकता है।
अमरूद और केला
अमरूद और केला ये दोनों ही फल सेहत के लिए बेहद लाभदायक हैं लेकिन अगर इन्हें एक साथ खाया जाए तो ये शरीर को कई तरह की बीमारियां दे सकते हैं। इन दोनों फलों को साथ में खाने से ऐसिडोसिस यानी अम्लरक्तता, मिचली आना, पेट में गैस बनना और लगातार सिरदर्द रहना जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
संतरा और दूध
दूध और संतरे के मिश्रण को साथ में खाना पाचन तंत्र को नुकसान पहुंचा सकता है। इसे न सिर्फ पचाना मुश्किल होता है बल्कि इससे कई तरह की स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं। अगर आप दूध या दूध से जुड़े नाश्ते में संतरा डालते हैं तो आप अपच की समस्या को न्योता दे रहे हैं।
अनन्‍नास और दूध
अनन्‍नास में मौजूद ब्रोमेलेन जब दूध के साथ मिक्स होता है तो गैस, मिचली आना, इंफेक्शन, सिरदर्द और पेट दर्द जैसी कई समस्याओं का कारण बन सकता है।
फल और सब्जियां
फलों और सब्जियों को एक साथ मिलाकर कभी नहीं खाना चाहिए। फलों में चीनी की मात्रा ज्यादा होती है जिन्हें पचाना मुश्किल होता है। डाइजेशन की प्रक्रिया में फल पेट में लंबे समय तक पड़े रहते हैं और सड़कर टॉक्सिन बनाते हैं जिससे डायरिया, सिरदर्द, इंफेक्शन और पेट में दर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »