पीलीभीत: बच्चा चोर के शक में पिट गई UP 100 police

पीलीभीत। बच्चा चोरी के शक में ग्रामीणों ने पीलीभीत में UP 100 police टीम को पीट द‍िया, गलतफहमी के कारण प‍िटी टीम को बमुश्क‍िल पुल‍िस ने जाकर बचाया।

स्थानीय राजीव कॉलोनी में पहले मजदूर की पिटाई के बाद अब पुलिस भी इस अफवाह का शिकार हो गई। शुक्रवार रात सेहरामऊ उत्तरी के गांव सौंधा में बच्चा चोर को खेत में घेरने की सूचना मिलने पर UP 100 police पहुंची।
पड़ताल में मामला अफवाह निकल गया। इसपर पुलिस ग्रामीणों को समझाने लगी तो भीड़ आक्रोशित होकर पुलिस पर टूट पड़ी। पुलिस कर्मियों को पीटा और गाड़ी तोड़ दी।

रात में ही डीएम-एसपी पुलिस फोर्स के साथ पहुंचे और सख्त कार्रवाई की। एसपी मनोज सोनकर ने बताया कि प्रधान समेत दस लोग पकड़ लिए गए है। उनको जेल भेजा जा रहा है।

तमंचा भी बरामद हुआ है। इसके बाद शनिवार को जिला महिला अस्पताल में पुलिस द्वारा मेडिकल परीक्षण कराने लाई गई मानसिक महिला को बच्चा चोर कहकर घेर लिया। पुलिस ने मुश्किल से उसे बचाया।

बच्चा चोरी के शक में मजदूर की पिटाई
इससे पहले शहर से सटी राजीव कॉलोनी में बृहस्पतिवार रात बच्चा चोरी के शक में नशे में धुत पूरनपुर कोतवाली क्षेत्र के रूरिया गांव के राजू की भीड़ ने पिटाई कर दी। पुलिस ने आरोपी युवक को हिरासत में लेकर दोनों पक्षों से बातचीत की तो बच्चा चोरी का यह मामला अफवाह निकला।

बच्चों के परिजन ने भी गलतफहमी में उसकी पिटाई करने की बात कहकर कार्रवाई से इंकार कर दिया। फिलहाल सुनगढ़ी पुलिस ने पकड़े गए मजदूर का शांतिभंग की आशंका में चालान किया है। सुनगढ़ी थाना क्षेत्र के राजीव कॉलोनी निवासी सूरजपाल का सात वर्षीय पुत्र ऋषि भारती बृहस्पतिवार रात करीब नौ बजे कॉलोनी के बच्चों के साथ घर के बाहर खेल रहा था।

इसबीच बच्चा चोरी का शोर मच गया कि एक युवक 50 रुपये का लालच देकर बच्चे को साथ ले जाने की कोशिश कर रहा है। शोर मचते ही भीड़ जमा हो गई और युवक को पकड़कर पीट दिया।

उधर बीसलपुर में भोपाल की एक युवती शुक्रवार सुबह अपने प्रेमी को तलाशते हुए यहां एक मोहल्ले में पहुंची तो लोगों ने उसे बच्चा चोर समझकर पकड़ लिया और पुलिस के हवाले कर दिया। पूछताछ में हकीकत सामने आने पर पुलिस ने उसे छोड़ दिया।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *