Mirzapur में विहिप की शोभायात्रा में बवाल, कोतवाल सहित तीन सस्पेंड

Mirzapur के नगर विधायक रत्नाकर मिश्र और मड़िहान विधायक रमाशंकर पटेल, भाजपा नगर अध्यक्ष ने लोगों के समझाने का प्रयास किया लेकिन कार्यकर्ता नहीं माने और देर रात तक वहीं बैठकर नारेबाजी करते रहे

मिर्जापुर। यूपी के Mirzapur की मुकेरी बाजार में विहिप की शोभायात्रा के दौरान हुए बवाल को लेकर कड़ा कदम उठाया गया है। मामले में कटरा कोतवाल और दो सिपाहियों को सस्पेंड कर दिया गया।
प्राप्‍त समाचार के अनुसार 25 नवंबर को अयोध्या में होने वाली शोभायात्रा के मद्देनजर विहिप के सदस्य मंगलवार को शोभायात्रा निकाल रहे थे। इसमें रथ भी शामिल था जिसे संगमोहाल से तेलियागंज, गिरधर का चौराहा होते मुकेरी बाजार, गणेशगंज होकर संगमोहाल जाना था। शोभायात्रा के मुकेरी बाजार पहुंचने पर रैली के झंडे में फंसकर दूसरे समुदाय की ओर से सजाए गए झालर और रॉड उखड़ने लगे।

इस पर दूसरे समुदाय के लोगों ने झंडा नीचे करने को कहा, लेकिन नहीं करने पर विवाद हो गया। मामला बढ़ने पर दूसरे समुदाय के लोगों ने शोभायात्रा में आगे चल रहे हनुमान का रूप धरे व्यक्ति की पिटाई कर दी। बीचबचाव में आए वहीं के संजय की पिटाई कर घायल कर दिया। इसको लेकर दोनों पक्षों में मारपीट हो गई। शोभायात्रा इमलहा मोहल्ला पहुंचने पर दूसरे समुदाय के लोगों ने पथराव कर दिया।

इससे अफरातफरी मच गई और दोनों पक्ष पथराव करने लगे। सूचना पर फोर्स पहुंच गई। डीएम अनुराग पटेल और एसपी शालिनी ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन लोग नहीं माने। डीएम अनुराग पटेल ने कहा कि सांप्रदायिक सौहार्द बनाए रखने की अपील की गई है। दोनों पक्षों से वार्ता कर समझाया गया है।

विहिप के जुलूस के दौरान हुए बवाल से पूरे इलाके में हड़कंप मच गया। पथराव के दौरान मोहल्ले के लोग अपनी-अपनी दुकानें बंदकर घरों में छिप गए। करीब एक घंटे तक हुए पथराव के दौरान पूरे सड़क पर सन्नाटा पसर गया। पानदरीबा, गनेशगंज, मुकेरी बाजार, गुरहटटी चौराहा, धुंधी कटरा, इमरती रोड, मकरी खोह आदि इलाके में सन्नाटा छाया रहा।

पूरा इलाका पुलिस छावनी में तब्दील हो गया। घटना के दौरान Mirzapur पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी के अलावा एक दर्जन थाने की फोर्स मौजूद रही। Mirzapur के नगर विधायक रत्नाकर मिश्र और मड़िहान विधायक रमाशंकर पटेल, भाजपा नगर अध्यक्ष ने लोगों के समझाने का प्रयास किया लेकिन कार्यकर्ता नहीं माने और देर रात तक वहीं बैठकर नारेबाजी करते रहे।

बवाल के बाद शाम करीब सात बजे घटना स्थल पर पहुंची एसपी शालिनी को देखते ही विहिप कार्यकर्ता नाराज हो गए। उनका घेराव करते हुए कहा कि यहां पथराव हो रहा था लेकिन सूचना देने के बावजूद पुलिस समय से नहीं पहुंची। लोगों ने कहा कि जिन लोगों ने हनुमान जी पर हमला बोला है, उन्हें तत्काल गिरफ्तार करें नहीं तो कार्यकर्ता आंदोलन करेंगे।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »