रथयात्रा व कांवड़ यात्रा को लेकर मिर्जापुर प्रशासन का बड़ा फैसला

मिर्जापुर। कोरोना के कारण इस बार रथयात्रा व कांवड़ यात्रा को लेकर मिर्जापुर प्रशासन ने बड़ा फैसला ल‍िया है। मिर्जापुर में इस बार परंपरागत जगन्नाथ यात्रा नहीं निकाली जाएगी। यही नहीं आगामी सावन महीने में होने वाली कावड़ यात्रा भी नहीं निकलेगी। शिवभक्त कांवड़िया घर में ही भगवान की पूज-अर्चना करेंगे। यह फैसला सोमवार को कलेक्ट्रेट में आयोजित बैठक में प्रशानिक अधिकारियों ने लिया।

मिर्जापुर के डीएम सुशील कुमार पटेल ने बताया कि इस समय कोरोना संक्रमण से बचना और इसे बढ़ने से रोकना प्राथमिकता है। इसे देखते हुए जगन्नाथ यात्रा समाज व स्वास्थ्य हित में नहीं है। एसपी डॉ धर्मवीर सिंह ने भी कहा कि हमारा पहला फर्ज लोगों को संक्रमण से बचाना है। इसलिए यात्रा को रोकना पड़ रहा है, जिससे लोग एक-दूसरे के संपर्क में न आएं।
बैठक में विश्व हिंदू परिषद (विहिप), श्री जगन्नाथ यात्रा व अन्य विभिन्न धार्मिक संगठनों के लोग मौजूद रहे। विहिप के जिला अध्यक्ष रामचंद्र शुक्ल ने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए उन्होंने फैसला कर लिया था कि इस बार यात्रा धूमधाम से नहीं निकाली जाएगी। प्रशासन का पूरा सहयोग किया जाएगा। पूजा-पाठ मंदिरों और घरों में ही किया जाएगा।

श्री जगन्नाथ यात्रा प्रभारी राजेश महेश्वरी ने कहा कि 23 जून को जगन्नाथ यात्रा निकलनी थी। जिसे कोरोना वायरस को देखते हुए निरस्त कर दिया गया है। मंदिर में ही पूजा पाठ किया जाएगा। मंदिर के पास ही बलदाऊ सुभद्रा और जगन्नाथ के रथ को सांकेतिक रूप से घुमाकर मंदिर में वापस लाया जाएगा, जिसमें भीड़ नहीं शामिल होगी। आयोजन को धूमधाम से नहीं मनाया जाएगा और प्रशासन का सहयोग किया जाएगा।

– एजेंसी

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *