Metro station पर हंगामा कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में आज ट्रांसपोर्ट नगर Metro station के बाहर हंगामा कर रहे समाजवादी पार्टी (सपा) कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया।
मेट्रो रेल चलने के साथ ही इसे चलाने का श्रेय लेने की सियासत शुरू हो गयी है।
सपा ने उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर लखनऊ मेट्रो रेल को चलवाने झूठा श्रेय लेने का आरोप लगाते हुये कहा है कि वास्तव में इस परियोजना का उदघाटन पिछले साल दिसम्बर में तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के हाथों किया जा चुका है।

पहले ही दिन लखनऊ मेट्रो में खराबी आने के कारण मेट्रो कॉरपोरेशन की खूब फजीहत हुई तो स्टेशन के बाहर भी कम ड्रामा नहीं हुआ। ट्रांसपोर्ट नगर में अचानक कई समाजवादी पार्टी (एसपी) के कार्यकर्ता पहुंचे और मेट्रो ट्रेन बुक कर लखनऊ घुमाने की मांग करने लगे। ऐसे में एसपी कार्यकर्ताओं को काबू में करने के लिए पुलिस बुलानी पड़ी।

पुलिस ने एसपी समर्थकों को वहां से चले जाने और शांति बनाए रखने को कहा, लेकिन वे अपनी मांग पर अड़े रहे। इन लोगों का कहाना था कि एसपी ने ही यूपी को यह तोहफा दिया है, ऐसे में उनकी डिमांड जायज है।
एसपी कार्यकर्ता टीपी नगर स्टेशन पर ही हंगामा करने लगे। इस दौरान करीब 15 मिनट तक स्टेशन पर कोई कामकाज नहीं हो पाया। कार्यकर्ताओं को काबू में करने के लिए पुलिस को लाठियां भांजनी पड़ी। पुलिस के तेवर बदलते देख कुछ वहां से निकल लिए और बाकी कार्यकर्ताओं को पुलिस ट्रक में भरकर ले गई।

इससे पहले मेट्रो में पहला दिन मुसाफिरों के लिए खराब अनुभव लेकर आया। यह करीब एक घंटे तक आलमबाग स्टेशन पर खड़ी रही और बाद में इसे ले जाने के लिए दूसरी मेट्रो बुलानी पड़ी। जब मेट्रो खराब हुई तो उसकी लाइट और एयर कंडिशनर भी बंद हो गए। इस दौरान मेट्रो में फंसे यात्रियों को सीढ़ी की मदद से उतारा गया। मेट्रो में फंसे रहने के बाद ये लोग जब बाहर आए तो उनके चेहरे पर डर साफ दिख रहा था।
दरअसल, मंगलवार सुबह छह बजे के आसपास आम लोगों के लिए यह मेट्रो ट्रांसपोर्ट नगर से चली थी। इसमें LMRC के एमडी सहित बड़े अधिकारी और मीडिया के कई लोग सफर कर रहे थे।
टीपी नगर से यह चारबाग स्टेशन पहुंची और इसके बाद आलमबाग पहुंची। वहीं जाकर यह मेट्रो खराब हो गई। बाद में जाकर तकनीकी खराबी दूर हुई तो फिर Metro station की पटरियों पर दौड़ पड़ी।
-एजेंसी