#MeToo Effect: केआरके ने अपने आफिस से सभी महिला कर्मचारियों को निकाला

#MeToo का भय फिल्‍म इंडस्‍ट्री को चैन से नहीं बैठने दे रहा

दुबई। फिल्म क्रिटिक और प्रोड्यूसर कमाल राशिद खान उर्फ केआरके #MeToo Effect  के बीच एक बार फिर सुर्खियों में आ गए हैं. कमाल ने अपने मुंबई और दुबई के ऑफिस से सभी महिला कर्मचारियों को निकाल दिया है. ट्वीट करके केआरके ने बताया कि उनकी पत्नी ने ऐसा करने को कहा था.

केआरके ने लिखा, ‘हां, यह सौ फीसदी सही है कि मैं बीवी का गुलाम हूं. इसलिए मैंने उसका आदेश माना और अब मेरे इंडिया और दुबई के ऑफिस में कोई महिला कर्मचारी नहीं है. अब न किसी लड़की से बातचीत और न ही पार्टी. धन्यवाद.’

बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है जब केआरके अपने किसी ट्वीट की वजह से सुर्खियों में आए हों. वह अक्सर अपने विवादित ट्वीट्स के कारण सुर्खियों में रहते हैं और वह खुद को बॉलीवुड फिल्मों का आलोचक कहते हैं. यहां तक कि उन्होंने सबको पसंद आने वाली फिल्म ‘बाहुबली’ की भी आलोचना की थी. इसके अलावा उन्होंने कुछ वक्त पहले रिलीज हुई श्रेयस तलपड़े की फिल्म ‘पॉस्टर ब्वॉय्ज’ और वरुण धवन की ‘जुड़वा 2’ पर भी तंज कसा था.

पिछले साल कमाल राशिद खान ने ‘सीक्रेट सुपरस्टार’ फिल्म के क्लाइमैक्स का खुलासा कर दिया था. इसके बाद ट्विटर अकाउंट को बंद कर दिया गया था. केआरके ने ट्विटर अकाउंट दोबारा रिस्टोर नहीं करने पर सुसाइड करने की धमकी दी थी.

कमाल खान ने बतौर प्रोड्यूसर बॉलीवुड में डेब्यू किया था. उन्होंने ‘देशद्रोही’ और ‘एक विलेन फिल्म’ में रोल भी किया था. इसके अलावा वह भोजपुरी फिल्म ‘मुन्ना पांडेय बेरोजगार’ को प्रोड्यूस भी कर चुके हैं. केआरके को टीवी के विवादित शो ‘बिग बॉस 3’ में भी देखा जा चुका है.
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »