Spinal Cord इंजरी का खतरा महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को

Spinal Cord का हमारे शरीर में बहुत महत्वपूर्ण काम होता है। यह दिमाग से शरीर के अन्य अंगों तक संदेश पहुंचाने का काम करता है। इसके अलावा Spinal Cord लचीला होता है। जिसके चलते इंसान झुक पाता है इसलिए Spinal Cord चोट लगने पर पूरे शरीर को प्रभावित करता है। Spinal Cord का सबसे ज्यादा असर हाथ और पैर पड़ता है। स्पाइंल कॉर्ड में चोट लगने से बहुत समस्या हो जाती है। स्पाइंल कॉर्ड का ठीक रहना हमारे शरीर के लिए जरूरी है क्योंकि उससे हमारा चलना-फिरना-उठना-बैठना सब कुछ जुड़ा होता है। स्पाइंल कॉर्ड इंजरी के बारे में जानना भी बहुत जरूरी हो जाता है ताकि इससे हम बच सकें। ऐसा माना जाता है कि स्पाइंल कॉर्ड इंजरी का खतरा महिलाओं से ज्यादा पुरुषों को रहता है।
इंजरी के कारण:
1- स्पाइंल कॉर्ड इंजरी का सबसे बड़ा कारण रोड एक्सीडेंट होता है। रोड एक्सीडेंट के दौरान गिरने के कारण स्पाइंल कॉर्ड बहुत प्रभावित होती है।
2- खेल-कूद के दौरान भी स्पाइंल कॉर्ड में चोट लगने का सबसे अधिक खतरा रहता है।
3- अर्थराइटिस, ऑस्टियोपोरोसिस, कैंसर और अन्य इंफेक्शन्स के कारण भी स्पाइंल कॉर्ड इंजरी हो जाती है।
4- कभी-कभी मारपीट में स्पाइंल कॉर्ड में इंजरी हो जाती है।
5- बुजुर्ग लोगों में स्पाइंल कॉर्ड इंजरी गिरने के कारण हो जाती है।
इंजरी से बचने के तरीके:
1- चार पहिया वाहन ड्राइव करते समय सीट बेल्ट का प्रयोग करना चाहिए। वहीं, दो पहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहनना चाहिए।
2- किसी भी वाहन को नशे की स्थिति में नहीं चलाना चाहिए। इसके साथ ही वाहन की की गति पर नियंत्रण रखना चाहिए।
3- कम पानी वाली जगह पर स्विमिंग नहीं करनी चाहिए।
4- ऐसे काम नहीं करने चाहिए, जिससे शरीर को ज्यादा नुकसान पहुंचे।
5- खेलकूद के समय सुरक्षा उपकरणों का इस्तेमाल करना चहिए।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »