यम द्वितिया से पूर्व व्यवस्थाओं के ल‍िए Nodal officer को द‍िया ज्ञापन

मथुरा। यम द्वितिया ( भैय्या दूज) से पहले यमुना में अतिरिक्त शुद्ध जल छोड़े जाने व परिक्रमा मार्ग को गड्ढा मुक्त करने की मांग करते हुए 10 सूत्रीय ज्ञापन आज Nodal officer अपर जिला मजिस्ट्रेट(वि./रा.) सौंपा गया।

यमुना-कार्य योजना मथुरा-वृन्दावन के Nodal officer अपर जिला मजिस्ट्रेट(वि./रा.) को ज्ञापन सौंपते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट के याच‍िका कर्ता गोपेश्वरनाथ चतुर्वेदी ने कहा क‍ि माननीय उच्च न्यायालय द्वारा जनहित याचिका सं.-1644/1998 में निर्गत आदेशों के अनुपालन क्रम में ‘भैया दूज’ के पावन पर्व पर यमुना-स्नान के अति महत्व के कारण इस अवसर पर भारी संख्या में स्नान हेतु आगामी 29 अक्तूबर को आने वाले श्रृद्धालुओं की सुविधार्थ अन्य परंपरागत व्यवस्थाओं के अतिरिक्त कुछ अन्य कार्य प्राथमिकता के आधार पर कराया जाना अति आवश्यक है।

जैसे क‍ि यमुना में जल की मात्रा अत्यधिक कम होने के कारण जल स्नान योग्य भी नहीं है, अतः स्नान पर्व से पूर्व अतिरिक्त शुद्ध जल की व्यवस्था कराना आवश्यक है। साथ ही विश्राम घाट सहित अन्य प्रमुख घाटों के सामने जमी सिल्ट व कीचड़ आदि को हटवाने का कार्य शीघ्र आरंभ कराया जाना आवश्यक है ।

परिक्रमा मार्ग में कई स्थानों पर भूमिगत विद्युत केबलिंग कार्य व जल निगम की सीवरेज व ड्रेनेज इकाई द्वारा करायी गयी खुदाई के उपरांत सड़क निर्माण कार्य पूर्ण नहीं हुआ है, जो शीघ्र सुचारू ढंग से पूर्ण कराया जाना आवश्यक है ।
मथुरा में ध्रुव घाट पर निर्माणाधीन विद्युत शवदाह-गृह का निर्माण अभी तक अधूरा है अतः समय-सीमा निश्च‍ित कर कार्य को पूर्ण कराया जाय।

यमुना कार्य योजना के अन्तर्गत नगर निगम द्वारा मथुरा-वृन्दावन क्षेत्र में संचालित सभी ‘सीवेज पम्पिंग स्टेशंस’ का अनवरत संचालन सुनिश्‍चित किया जाय ताकि नालों का प्रदूष‍ित जल ओवर फ्लो होकर यमुना-जल को प्रदूष‍ित न करे और स्नानार्थियों की भावनायें आहत न हों ।

प्रदूषण नियंत्रण विभाग को प्रदूषणकारी औद्यौगिक इकाईयों से उत्प्रवाहित व यमुना की ओर जा रहे नालों के जल की निरंतर सैम्पलिंग हेतु निर्देश‍ित कर उल्लंघनकर्ताओं पर दण्डात्मक कार्यवाही सुनिश्च‍ित की जाय ।
मनोहर पुरा व दरेसी क्षेत्र में नित्यप्रति हो रहे अवैध पशु-कटान को कड़ाई पूर्वक रोका जाय ताकि कटान का रक्त नालों में होकर यमुनाजी में न पहुंच सके ।

मथुरा परिक्रमा मार्ग में बीएसए काॅलेज से पूर्व ‘रेलवे अण्डर पास’ मार्ग की सफाई करवा कर चालू कराया जाय ताकि परिक्रमार्थियों को रेलवे ट्रैक लांघने को विवश न होना पड़े और पूर्व में हुई दुर्घटना की पुनरावृत्त‍ि न हो ।
5 नवंबर को अक्षय नवमी परिक्रमा, 6 नवंबर को कंस-वध मेला व 7 नवंबर को देवोत्थान एकादशी पर मथुरा-वृन्दावन की परिक्रमा का क्रम रहेगा अतः परिक्रमा मार्गों को गढ्ढा मुक्त व कूड़ा मुक्त रखने हेतु नगर निगम को आवश्यक निर्देश निर्गत करायें ।

गोवर्धन स्थित मानसी गंगा में स्नान हेतु शुद्ध जल की आपूर्ति हेतु स्थापित नलकूप के जल को नगर पंचायत द्वारा नगरवासियों को पेयजल के रूप में आपूर्ति किये जाने से मानसी गंगा में समुचित जलापूर्ति का अभाव है, जो उच्च न्यायालय के आदेशों की अवमानना है ।

माननीय उच्च न्यायालय के आदेशानुसार यमुना कार्य योजना की सतत निगरानी हेतु रिवर पुलिस का गठन किया गया था, जो वर्तमान में निष्क्र‍िय है अतः पर्व से पूर्व ‘रिवर पुलिस’ का गठन कर संसाधन प्रदान कर उसे कार्यशील किया जाये ।

इसके अतिरिक्त पुलिस, नगर निगम, लोकनिर्माण एवं विद्युत विभाग द्वारा नियमित रूप से की जाती रही व्यवस्थायें भी समय पूर्व सुनिश्च‍ित कराएं ताक‍ि यम द्वितिया (भैया दूज) स्नान के ल‍िए आने वाले श्रद्धालुओं को कष्ट ना उठाना पड़े।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *