एटीएस और एनआईए की कार्यवाही पर अब महबूबा मुफ्ती ने सवाल उठाए

श्रीनगर। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) और यूपी पुलिस के ऐंटी टेरर स्कवॉयड द्वारा बीते बुधवार को यूपी और नई दिल्ली में हुई छापेमारी के बाद अब जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती ने इस कार्यवाही पर सवालिया निशान लगाया है। एटीएस और एनआईए की कार्यवाही में आईएस कनेक्शन एवं आतंकी साजिश के शक में 10 लोगों के गिरफ्तार होने के बाद महबूबा ने इस ऑपरेशन की टाइमिंग पर सवाल खड़े किए हैं। साथ ही महबूबा ने संदिग्धों को आईएस से जुड़ा बताने के एनआईए के दावे पर भी सवाल उठाया है।
एजेंसियों की कार्यवाही के दो दिन बाद अपने ट्वीट में महबूबा मुफ्ती ने इन पर सवाल खड़े किए हैं। शुक्रवार को अपने ट्वीट में महबूबा ने लिखा, ‘राष्ट्रीय सुरक्षा का विषय सर्वोपरि है लेकिन संदिग्धों को सुतली बम के आधार पर आतंकी और आईएस से जुड़ा बताने का दावा अतार्किक है। इस आरोप ने पहले ही इन लोगों और इनके परिवारों के जीवन को बर्बाद कर दिया है। ऐसे में एनआईए को उन मौकों से सबक लेना चाहिए, जिनमें आरोपी दशकों के बाद आरोपों से बरी हो गए थे।’
चुनावी साल में गिरफ्तारी शक के घेरे में: महबूबा
वहीं एक अन्य ट्वीट में महबूबा ने एजेंसियों द्वारा ऑपरेशन करने की टाइमिंग पर सवाल उठाते हुए लिखा,’अर्बन नक्सल केस के बाद फिर चुनावी समय में एनआईए के द्वारा की गई गिरफ्तारी अब शक के घेरे में है। राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए एजेंसी को किसी एक समुदाय के प्रति संदेह से नहीं, बल्कि पूरे देश के प्रति समावेशी रूप से सोचना चाहिए।’
बता दें कि महबूबा का बयान उस वक्त आया है जबकि एनआईए ने बुधवार को ही यूपी और दिल्ली के कई ठिकानों पर छापेमारी की थी। इस कार्रवाई के दौरान 16 संदिग्धों से पूछताछ के बाद 10 लोगों को अरेस्ट किया गया था। एनआईए के मुताबिक गिरफ्तार किए गए लोगों में से 5 उत्तर प्रदेश के और 5 दिल्ली के हैं। ये सभी लोग विदेश में बैठे एक हैंडलर के संपर्क में थे।
बुधवार को हुई थी एनआईए और एटीएस की कार्यवाही
बुधवार को इस कार्यवाही के बाद एनआईए के आईजी आलोक मित्तल ने बताया था कि हिरासत में लिए गए आतंकी देश की कई मुख्य हस्तियों, प्रतिष्ठानों और दिल्ली के बड़े बाजारों को निशाना बनाने की तैयारी में थे। यही नहीं ये लोग अगले कुछ ही दिनों में कई जगहों पर बम धमाके या फिर फिदायीन अटैक करने की तैयारी में थे। इसके लिए ये लोग रिमोट कंट्रोल बम और सुसाइड जैकेट तैयार करने में जुटे थे। एनआईए के अनुसार ये आतंकी आईएसआईएस के नए मॉड्यूल हरकत-उल-हर्ब-ए-इस्लाम के जरिए साजिश रच रहे थे। एनआईए के मुताबिक इन लोगों से एक देसी रॉकेट लॉन्चर बरामद हुआ था। साथ ही इनके पास 120 अलार्म क्लॉक मिली हैं, जिसे यह लोग बम बनाने में इस्तेमाल करने वाले थे।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »