त्‍यागपत्र के बाद Mehbooba Mufti बोलीं- जम्मू कश्मीर में ताकत के प्रयोग की नीति नहीं चलेगी

श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में गठबंधन सहयोगी भाजपा के सरकार से नाता तोड़ने के बाद राज्य की मुख्यमंत्री Mehbooba Mufti ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया। पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के वरिष्ठ नेता नईम अख्तर ने यहां पत्रकारों से कहा कि महबूबा ने पद से इस्तीफा दे दिया है और मैंने राजभवन में राज्यपाल एन.एन. वोहरा को उनका इस्तीफा सौंप दिया है। यह पूछे जाने पर कि भाजपा क्यों सरकार से बाहर हो गई तो उन्होंने कहा कि आप सभी लोगों ने टीवी चैनलों पर देख लिया है और उनका कहना था कि हम काफी नरम हैं।

Mehbooba Mufti के प्रेस कान्फ्रेंस की बड़ी बातें
हमने हमेशा कहा है कि जम्मू कश्मीर में बल प्रयोग की सुरक्षा नीति काम नहीं करेगी, सुलह-समझौता महत्वपूर्ण है।

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती ने कहा कि हम कश्मीर में संवाद और सुलह-समझौता के लिए प्रयासरत रहेंगे तथा भाजपा के साथ गठबंधन सत्ता के लिए नहीं था।

महबूबा मुफ्ती ने प्रेस कान्फ्रेंस करते हुए कहा कि उन्होंने बीजेपी को बहुत बड़ी पार्टी मान कर राज्य हित में गठबंधन किया था। उन्होंने कहा कि मैंने गवर्नर साहब को इस्तीफा दे दिया है। उन्होंने कहा राज्य की इंटीग्रिटी, बेहतरी, पाकिस्तान से बेहतर रिश्ते के लिए मैंने उनके साथ सरकार बनायी। उन्होंने कहा जम्मू कश्मीर में ताकत वाली नीति नहीं चल सकती है। उन्होंने कहा कि हमने अपनी ओर से युद्ध विराम करा कर पूरी कोशिश की। उन्होंने कहा कि वे किसी के साथ सरकार नहीं बनाएंगी. महबूबा ने इस दौरान बताया कि उन्होंने 11, 900 युवाओं पर से मामले वापस लिये।

नेशनल कान्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि वे महबूबा मुफ्ती को समर्थन नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि राज्य में चुनाव हो। उन्होंने कहा कि हमें सरकार बनाने के लिए जनादेश नहीं मिला है। उन्होंने कहा कि गवर्नर से उनकी इसी संबंध में बात हुई है। उन्होंने कहा कि राज्य को हालात को सामान्य बनाने की दिशा में काम होना चाहिए।

जम्मू कश्मीर के राज्यपाल एनएन वोहरा का कार्यकाल केंद्र सरकार ने बढ़ा दिया है। वोहरा का इसी माह 25 जून को खत्म होने वाला था।
नेशनल कान्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने राज्यपाल एनएन बोहरा से मुलाकात की। ऐसे में यह सवाल उठ रहा है कि क्या वे महबूबा मुफ्ती को समर्थन देंगे या खुद सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे। 87 सदस्यीय विधानसभा में पीडीपी के पास 28 विधायक हैं व नेशनल कांफ्रेंस के पास 15 विधायक हैं। मुख्यमंत्री Mehbooba Mufti ने राज्यपाल को अपना इस्तीफा सौंप दिया है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »