कश्मीर में सुरक्षाबलों की अतिरिक्‍त तैनाती से महबूबा सर्वाधिक परेशान

श्रीनगर। कश्मीर में 35ए को हटाए जाने की आशंका से सर्वाधिक परेशान पीडीपी की प्रमुख महबूबा मुफ्ती लग रही हैं। महबूबा ने एक भाषण के दौरान यहां तक कह दिया कि 35ए की तरफ उठने वाले हाथ राख हो जाएंगे।
दरअसल, केंद्र सरकार द्वारा कश्मीर में अर्द्धसैनिक बलों की 100 अतिरिक्त कंपनियां तैनात करने के फैसले से पीडीपी और नेशनल कॉन्फ्रेंस बेहद नाराज हैं जबकि केंद्र सरकार के सूत्रों का कहना है कि कश्मीर में पाक आतंकियों द्वारा हमले की साजिश का इनपुट मिलने के बाद अतिरिक्त बल तैनात किया गया है।
महबूबा मुफ्ती ने कहा, ’35ए के साथ छेड़छाड़ करना बारूद को हाथ लगाने के बराबर होगा। जो हाथ 35ए के साथ छेड़छाड़ करने के लिए उठेंगे, वो हाथ ही नहीं बल्कि पूरा जिस्म जलकर राख हो जाएगा।’
इससे पहले शनिवार को भी मुफ्ती ने अतिरिक्त 100 कंपनियों को तैनात करने के केंद्र के फैसले की आलोचना करते हुए कहा था कि यह एक राजनीतिक समस्या है, जिसे सैन्य तरीके से हल नहीं किया जा सकता है। पीडीपी ने कहा था, ‘केंद्र को अपनी कश्मीर नीति पर पुनर्विचार और उसे दुरुस्त करना होगा।’
महबूबा ने ट्वीट करते हुए कहा, ‘अतिरिक्त 10 हजार सैनिकों की तैनाती के फैसले ने घाटी के लोगों में भय का माहौल पैदा कर दिया है। कश्मीर में सुरक्षा बलों की कोई कमी नहीं है। जम्मू-कश्मीर एक राजनीतिक समस्या है, जो सैन्य साधनों से हल नहीं होगी। भारत सरकार को अपनी नीति पर पुनर्विचार और सुधार करने की आवश्यकता है।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »