मिलिए 15 साल से हाईवे पर राज कर रही महिला ट्रक ड्राइवर से

हाईवे पर ट्रक चलाने वाले ड्राइवरों को कई तरह की चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। खासतौर पर महिला ड्राइवरों को। हालत ऐसे होते हैं कि महिलाओं को ये काम करने से मना ही कर दिया जाता है। जिसकी सबसे बड़ी वजह होती है उनकी सुरक्षा। लेकिन अगर मध्यप्रदेश राज्य के भोपाल शहर की रहने वाली योगिता की बात करें तो लोगों के ये बहाने बेकार साबित होते हैं।
योगिता रघुवंशी एक ट्रक ड्राइवर हैं। दो बच्चों की मां योगिता एक सिंगल मदर हैं। वह बीते 15 सालों से ट्रक चला रही हैं। अपने ट्रक से वह देश के कोने-कोने तक सफर कर चुकी हैं।
49 वर्षीय योगिता अपने और अपने बच्चों का भरण पोषण करने के लिए ये काम करती हैं। उन्हें कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता है। ट्रक चलाते वक्त चौंकना रहना होता है, ताकि कोई हादसा ना हो।
देशभर में ट्रक से सफर करने वाली योगिता को इस काम से काफी मदद मिली है। योगिता ना केवल हिंदी, बल्कि अंग्रेजी, गुजराती, मराठी और तेलुगू भी काफी अच्छे से बोल लेती हैं।
योगिता का जीवन हमेशा से ऐसा नहीं था। साल 2003 में उनके पति राजबहादुर रघुवंशी की सड़क हादसे में मौत हो गई। योगिता के पति के अंतिम संस्कार में आते वक्त उनके भाई की भी एक हादसे में रास्ते में ही मौत हो गई।
योगिता के पास कॉमर्स और लॉ की डिग्री हैं। साथ ही उनके पास ब्यूटीशियन का प्रमाणपत्र भी है। लेकिन जब उन्हें लगा कि उनके बच्चों की अच्छी शिक्षा के लिए ये सब पर्याप्त नहीं है, तब उन्होंने ट्रक चलाने का फैसला लिया।
योगिता का कहना है कि अपने ट्रक चलाने के लंबे सफर में उन्हें कभी कोई डर और खतरा महसूस नहीं हुआ। वहीं बाकी ड्राइवर भी उन्हें प्रोत्साहित करते हैं। योगिता कहती हैं कि ढाबों पर उनका गर्मजोशी से स्वागत किया जाता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »