मायावती का सोनिया, राहुल और चंद्रबाबू से मिलने का कोई प्रोग्राम नहीं: बीएसपी

लखनऊ। बीएसपी के महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा ने पार्टी की सुप्रीमो मायावती के दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू से मिलने के किसी प्रोग्राम को नकार दिया है। मिश्रा ने बताया कि मायावती सोमवार को लखनऊ में ही रहेंगी। उनका दिल्ली जाने का कोई कार्यक्रम नहीं है और न ही किसी बैठक में उन्हें शामिल होना है।
गौरतलब है कि ऐसे कयास लगाए जा रहे थे कि गैर-बीजेपी दलों के गठबंधन के मुद्दे पर माया सोमवार को दिल्ली में सोनिया और राहुल से मिलने वाली हैं।
दरअसल, लोकसभा चुनाव का आखिरी चरण खत्म होते-होते सभी राजनीतिक दल सरकार बनाने के लिए जरूरी समीकरण बनाने की कवायद में जुट गए हैं।
विपक्ष के गठबंधन को लेकर अटकलें भी तेज होती जा रही हैं परंतु उत्तर प्रदेश की बड़ी विपक्षी नेता बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) की सुप्रीमो मायावती ने अभी भी पत्ते नहीं खोले हैं।
राजनीतिक गलियारों से खबरें आ रही थीं कि मायावती दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी और टीडीपी चीफ चंद्रबाबू नायडू से मिलेंगी, लेकिन उन पर विराम लग गया है।
अखिलेश बोले, ‘जरूरत पड़ी तो कांग्रेस को समर्थन’
इस बीच समाजवादी पार्टी (एसपी) के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने संकेत दिए हैं कि गठबंधन की अटकलों पर अभी विराम नहीं लगा है। उन्होंने रविवार को कहा कि गरीबों, किसानों, देश और भाईचारे की बात करने वाली पार्टियां 23 मई के बाद देश को नया पीएम देने के प्रयास में हैं। इसके लिए टीडीपी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू विपक्ष के सभी नेताओं से बात कर रहे हैं। जरूरत पड़ी तो कांग्रेस को समर्थन दिया जाएगा। अखिलेश ने दावा किया कि यूपी में महागठबंधन को सबसे ज्यादा सीटें मिलेंगी।
गठबंधन के लिए नायडू कर रहे मशक्कत
नायडू पिछले कुछ वक्त में गठबंधन बनाने को लेकर काफी सक्रिय हो चुके हैं। वह सीपीएम महासचिव सीताराम येचुरी और आम आदमी पार्टी (आप) अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल से भी मिल चुके हैं। लखनऊ में माया और अखिलेश से मुलाकात के बाद उन्होंने रविवार को दिल्ली में अध्यक्ष राहुल गांधी और एनसीपी के मुखिया शरद पवार से मुलाकात की थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »