आंबेडकर को भूमाफिया बताने वालों के लिए वोट मांग रही हैं मायावती: मोदी

हरदोई। पीएम मोदी ने आज यूपी के हरदोई में मुख्य रूप से बीएसपी सुप्रीमो मायावती को निशाने पर लिया। एसपी की तरफ इशारा करते हुए पीएम ने कहा कि पहले जो लोग बाबा साहेब भीमराव आंबेडकर को भूमाफिया कहते थे, कुर्सी की खातिर आज मायावती उन्हीं लोगों के लिए वोट मांग रही हैं।
यूपी मिशन पर निकले पीएम नरेंद्र मोदी ने हरदोई में एसपी-बीएसपी गठबंधन पर हमला बोलते हुए कहा, यूपी में तो बीएसपी ने बाबा साहेब के नाम पर सरकारें बनाई हैं। बहन जी के मन में कितना सम्मान रहा है, इसकी सच्चाई भी अब पता चल रही है। जिन लोगों के लिए बहन जी अब वोट मांग रही हैं, उन्होंने बाबा साहेब की प्रतिमा को देखकर कहा था कि ये प्रतिमा कह रही हैं कि ये जमीन मेरी है और सामने वाला प्लॉट भी मेरा ही है। इन लोगों ने बाबा साहेब को भूमाफिया बताया था।
मायावती पर तीखा हमला बोलते हुए पीएम ने कहा, ‘बहनजी आज बाबा साहेब के विरोधियों के लिए वोट मांग रही हैं। ये तब होता है जब आपका लक्ष्य सिर्फ कुर्सी पाना होता है। ये तब होता है जब सिर्फ जात-पात की राजनीति आपका आधार होता है और ये तब होता है जब आपको राष्ट्र की चिंता नहीं होती है।’
‘ये पाक की बात सच मानते हैं, देश के जवानों पर करते हैं शक’
आतंकवाद और देश की सुरक्षा का मुद्दा उठाते हुए पीएम ने कहा, ‘ये ऐसे लोग हैं जो पाकिस्तान की बात को तो सच मान लेते हैं लेकिन हमारे वीर सपूतों पर शक करते हैं। क्या ऐसे लोग देश की सुरक्षा कर पाएंगे। क्या ऐसे लोगों के हाथ में देश की कमान होनी चाहिए?’ मोदी ने कहा कि अगर मैंने मजबूती से आतंकवाद का मुकाबला किया है तो यह इसलिए संभव हुआ है क्योंकि आपने मुझे पीएम बनाया। पीएम ने एक बार फिर लोगों से कमल को वोट देकर केंद्र में बीजेपी सरकार बनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि आप देश की सुरक्षा मजबूत हाथों में देना चाहते हैं तो एक बार फिर आप बीजेपी की सरकार बनाइए।
सबका साथ, सबका विकास के लिए हम प्रतिबद्ध
एसपी-बीएसपी पर जाति और धर्म की राजनीति का आरोप लगाते हुए पीएम ने कहा, ‘सबका साथ, सबका विकास हमारा मंत्र है और सबको सुरक्षा, सबको सम्मान हमारी प्रतिबद्धता है। आपके इस चौकीदार ने देश के हर वर्ग, हर क्षेत्र के लिए समान रूप से काम किया है। वहीं कांग्रेस हो या एसपी-बीएसपी इनका बस एक ही मंत्र है, जात-पात जपना, जनता का माल अपना।’
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »