पहली संयुक्‍त रैली में मायावती की मुसलमानों से अपील, कांग्रेस के झांसे में न आएं

पहली संयुक्‍त रैली में मायावती की मुसलमानों से अपील, कांग्रेस के झांसे में न आएं
पहली संयुक्‍त रैली में मायावती की मुसलमानों से अपील, कांग्रेस के झांसे में न आएं

देवबंद। यूपी के देवबंद में बहुजन समाज पार्टी, समजावादी पार्टी और लोकदल की पहली संयुक्‍त रैली में बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने वेस्‍ट यूपी के मुसलमानों से अपील की कि वे कांग्रेस के झांसे में न आएं और बीजेपी को हराने के लिए गठबंधन के उम्‍मीदवारों को वोट दें। बीएसपी सुप्रीमो ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और कांग्रेस पर भी जमकर हमला बोला। मायावती ने कहा कि महागठबंधन की महारैली में उमड़ी भीड़ के बारे में जब पीएम मोदी को जानकारी मिलेगी तो वह घबराकर पगला जाएंगे और ‘सराब-सराब’ करने लगेंगे।
बीएसपी नेता ने कहा कि अगर चुनाव या ईवीएम में गड़बड़ी नहीं की गई तो गठबंधन की जीत होगी।
उन्‍होंने कहा, ‘बीजेपी के छोटे-बड़े चौकीदार कुछ भी कर लें कुछ नहीं कर पाएंगे। अच्‍छे दिन का वादा कर मोदी ने लोगों को गुमराह किया और सरकारी खजाने को लुटा दिया। बिना तैयारी के नोटबंदी और जीएसटी लागू करने से बेरोजगारी को बढ़ावा मिला। बीजेपी के शासन में आरक्षण व्‍यवस्‍था कमजोर हुई है। बीजेपी पूंजीपतियों को धनवान बनाने में जुटी रही।’ मायावती ने कहा कि बीजेपी जा रही है, महागठबंधन आ रहा है।
सीबीआई का इस्‍तेमाल विरोधियों को कमजोर करने के लिए
उन्‍होंने कहा कि मोदी सरकार सीबीआई और ईडी का इस्‍तेमाल अपने विरोधियों को कमजोर करने के लिए कर रही है। चुनाव में किए गए वादे का एक चौथाई काम भी केंद्र की बीजेपी सरकार ने नहीं किया है। बीएसपी सुप्रीमो ने वादा किया कि अगर हमारी सरकार बनी तो किसी भी राज्‍य में किसानों का बकाया नहीं रहेगा। मायावती ने कहा कि पहले की कांग्रेस की सरकार की तरह ही बीजेपी सरकार के वादे खोखले ही रहे हैं।
मायावती ने कहा, ‘मोदी की देशभक्ति सामने आ गई है। आज देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं हैं। राफेल डील में भ्रष्टाचार हुआ। कांग्रेस और बीजेपी के भ्रष्टाचार से रक्षा सौदे तक अछूते नहीं। चौकीदारी की नाटकबाजी भी बीजेपी को नहीं बचा पाएगी।’ उन्‍होंने कहा कि बीजेपी का 15 लाख रुपये का का वादा मज़ाक बनकर रह गया।
भावनाओं में बहकर वोट न करें मुसलमान
मायावती ने पश्चिम यूपी के मुस्लिम समुदाय से अपील की कि वे कांग्रेस की बजाय गठबंधन को वोट दें। गठबंधन ही बीजेपी को टक्‍कर दे सकता है। कांग्रेस पार्टी यह मानकर चल रही है कि हम जीते या न जीतें, गठबंधन के प्रत्‍याशी न जीत पाएं इसलिए वह ऐसे प्रत्‍याशी को टिकट दे रही है जिससे गठबंधन को नुकसान हो। कांग्रेस ने सहारनपुर में इमरान मसूद को टिकट देकर मुस्लिम वोटों को बांटने की कोशिश की है। बीएसपी नेता ने कहा कि बीजेपी को यूपी में हार का मुंह दिखाना है तो मुस्लिम समाज को गठबंधन के उम्‍मीदवारों को वोट देना होगा। उन्‍होंने कहा कि मोदी के साथ योगी को भगाना होगा इसलिए आगे भी मुस्लिम समुदाय उनके साथ बना रहे।
मायावती ने कहा कि अपनी गलत नीतियों की वजह से कांग्रेस सत्‍ता से बाहर हुई है। कांग्रेस की न्‍याय योजना से भी गरीबों को कुछ भी फायदा नहीं होगा। हमारी सरकार अगर केंद्र में बनेगी तो हम गरीबों को स्‍थायी रोजगार देंगे। बीजेपी की तरह ही कांग्रेस के इस वादे के लोभ में मतदाता न आएं। गरीबी हटाओ की नाटकबाजी राहुल गांधी की दादी ने भी की थी। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस को गरीबों की याद चुनाव के ही समय क्‍यों आती है। कांग्रेस, बीजेपी के नेताओं को केवल चुनाव के समय मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारा आदि में दर्शन करने और चादर चढ़ाने की याद आती है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »