मसूद अजहर पर जल्द कस सकता है शिकंजा

बीजिंग। पाकिस्तान से भारत के खिलाफ आतंकी साजिश रचने वाला और पुलवामा आतंकी हमले के मास्टर माइंट जैश-ए-मुहम्मद चीफ मसूद अजहर पर जल्द शिकंजा कस सकता है।
संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में उसके जल्द वैश्विक आतंकी घोषित होने की उम्मीद बढ़ गई है।
चीन ने मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए सकारात्मक रुख दिखाया है।
समाचार एजेंसी पीटीआई के अनुसार चीन ने आज दावा किया है कि मसूद को UNSC में वैश्विक आतंकी घोषित करने की दिशा में सकारात्म प्रगति है।
चीन ने अमेरिका पर आरोप लगाया है कि उसने इस मामले को सीधे सुरक्षा परिषद में ले जाकर गलत उदाहरण प्रस्तुत किया है। इसी वजह से मसूद के खिलाफ UNSC में लाया गया प्रस्ताव विफल हो गया।
दो सप्ताह पहले फ्रांस द्वारा अलकायदा प्रतिबंध समिति में मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने के लिए प्रस्ताव लाया गया था। चीन ने इस प्रस्ताव पर अड़ंगा लगा दिया था। इसके बाद 27 मार्च को अमेरिका ने मसूद अजहर को ब्लैकलिस्ट करने के लिए 15 देशों के एक शक्तिशाली परिषद में प्रस्ताव पारित किया था। इसमें संबंधित राष्ट्रों में मसूद अजहर की यात्रा पर रोक, उन देशों में मौजूद मसूद अजहर या उसके संगठन की संपत्तियां जब्त करने, हथियार रखने पर प्रतिबंध लगाने का प्रस्ताव शामिल है।
चीन ने पिछले सप्ताह जैश-ए-मुहम्मद सरगना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से बचाने के अपने बार-बार के प्रयासों पर सफाई देने का नाकाम प्रयास किया था। साथ ही चीन ने अमेरिका के उन आरोपों का भी खंडन किया था, जिसमें कहा गया था कि बीजिंग की कार्यवाही हिंसक इस्लामी समूहों को प्रतिबंध से बचाने के लिए की गई थी। अमेरिका द्वारा अब 15 देशों के परिषद में मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित कराने का प्रस्ताव लाने के बाद चीन भी संबंधित देशों के साथ लगातार संपर्क में है। विभिन्न पक्षों से समन्वय के दौरान चीन ने मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित करने पर सकारात्मक रुख दिखाया है। सोमवार को चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गेंग शुआंग ने एक प्रेसवार्ता में कहा कि अमेरिका बहुत अच्छे से उसके (चीन के) प्रयासों को जानता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *