मौलाना फरंगी महली की सलाह, बकरीद पर कुर्बानी के फोटो न लें

लखनऊ। बकरीद पर कुर्बानी देने की फोटो न लें और न ही उन्हें सोशल मीडिया पर पोस्ट करें। यह सलाह उत्तर प्रदेश के लखनऊ स्थित ऐशबाग ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली ने मुसलमानों को दी है। शुक्रवार की नमाज के बाद मुसलमानों को संबोधित करते हुए मौलवी ने किसी भी अप्रिय घटनाओं को रोकने के लिए सात सूत्री सलाह दी।
मौलाना ने सभी मुसलमानों को प्रतिबंधित पशुओं की कुर्बानी नहीं देने को भी कहा। उन्होंने कहा कि किसी जानवर की बलि देते समय कोई तस्वीर या वीडियो नहीं बनाया जाना चाहिए। ऐसी तस्वीरों में बहुत अधिक खून और पीड़ा होती है, जो महिलाओं और बच्चों के लिए डरावनी हो सकती है। ऐसी तस्वीरें यदि कोई हैं तो उन्हें सोशल मीडिया पर पोस्ट न करें, न ही ऐसी तस्वीरों को शेयर करें। उन्होंने कहा कि ऐसा करने से लोगों की भावनाएं आहत हो सकती हैं और इस्लाम हमें किसी की भावनाओं को आहत करने की अनुमति नहीं देता है।
शहर में मुसलमानों को यह भी कहा गया है कि बलि के बाद पशुओं के अवशेषों के सड़क पर लावारिस न फेंकें, न ही सड़कों और नालियों में कुर्बानी का खून बहाएं। उन्होंने कहा कि कोई भी सड़क या गलियों में कुर्बानी न दें। ऐसा करना लोगों के लिए समस्या पैदा कर सकता है और यह इस्लाम के खिलाफ है।
मौलाना ने मुसलमानों ने कहा कि कुर्बानी के बाद निकलने वाले कचरे को नगर निगम द्वारा रखे गए कचरे के डिब्बों में ही डालें। उन्हें इधर-उधर न फेंके। उन्होंने कहा कि इसके लिए नगर निगम से भी कहा गया है कि मुस्लिम बाहुल्य इलाकों में कचरे की डिब्बे ज्यादा रखवाएं ताकि कोई परेशानी न हो।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »