नए Tempo के परमिट पर बैन लगाने के निर्णय का स्‍वागत

मथुरा। प्रदेश सरकार द्वारा आगरा मंडल में Tempo के परमिट पर बैन लगा देने के बाद, अब Mathura में भी नए Tempo के परमिट बंद कर दिये जाने पर ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जनजागरूकता समिति उत्तर प्रदेश ने प्रसन्‍नता व्‍यक्त की है। समिति के प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित ने बताया कि बढ़ती हुई टेंपो की संख्या के कारण 2017 में Mathura महानगर का सिटी परमिट बंद कर दिया था, बंद करने के साथ सिटी में चलने वाले टैंपो का रंग पीला और ग्रामीण अंचल में उनका रंग लाल कर दिया था ताकि टेंपो को पहचाना जा सके। अब सरकार ने जिले के ग्रामीण अंचलों में भी चलने वाले टेंपो के परमिट पर लगाम लगा दी है इससे मथुरा जनपद में टेंपो की संख्या को कम किया जा सकेगा।

सरकार के इस निर्णय का ब्रज यातायात एवं पर्यावरण जनजागरूकता के प्रदेश अध्यक्ष विनोद दीक्षित ने स्वागत करते हुए कहा कि यह हमारी पुरानी मांग थी जिसपर फैसला अब आया है। इससे बढ़ती हुई टेंपो की संख्या के कारण जाम व सड़क हादसे कम किए जा सकेंगे। अत: सरकार के इस निर्णय का हम स्वागत करते हैं जिससे जनपद में ई-रिक्शा की बिक्री में वृद्धि होगी व हमारा वातावरण पोल्‍यूशन-फ्री रहेगा।

गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने आगरा मंडल में नए टेंपू के परमिट पर बैन लगा दिया है। सरकार के इस निर्णय से शहर में बढ़ने बाली टेंपो की संख्या में कमी आई, जाम से लोगों को महानगर में निजात मिली। अब मथुरा जिले में भी जगह जगह लगने वाले जाम की समस्या में कमी ला सकेगी क्योंकि जिले में टेंपो की संख्या जरूरत से ज्यादा होने के कारण आए दिन हादसे और जाम की समस्या पूरे जनपद में जाम की समस्या बनी रहती है।

जिले के ग्रामीण अंचलों में चलने वाले टेंपो के परमिट पर लगाम लगा देने से पूरे जनपद में टेंपो की संख्या को कम किया जा सकेगा।

मथुरा जनपद में पूर्ण रूप से टेंपो को पाबंद किए जाने से अब मथुरा में सवारी वाले टेंपो नहीं बिकेंगे। जिस वाहन का परमिट नहीं होता है वह गैरकानूनी रूप से संचालित माना जाता है। हादसे के समय वाहन का मालिक खुद जिम्मेदार होता है हादसे के समय उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई होती है। उसे रोड पर वाहन चलाने की परमिशन नहीं मिलती है।

मथुरा में टेंपो थ्री प्लस वन सवारियों में परिवहन विभाग से पास हैं। यह अलग बात है कि टैंपू में 15 से 20 लोग बिठाए जाते हैं इस कारण आए दिन सड़क हादसे हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »