मथुरा: yamuna किनारे यजमानी को लेकर आपस में भिड़े पंडे

मथुरा। मथुरा में yamuna किनारे पूजा की यजमानी को लेकर पंडे आपस में भिड़ गए। इस दौरान दोनों में लाठी-डंडे चले। पूजन-अर्चन कराने वाले पंडों का यह रौद्र रूप देखकर विश्राम घाट पर स्नान कर रहे श्रद्धालुओं में भगदड़ मच गई। स्नान करतीं महिला श्रद्धालु भी वहां से भागीं।

रविवार को मकर संक्रांति पर मथुरा के विश्राम घाट पर बड़ी संख्या में बाहरी श्रद्धालु स्नान, पूजन व दान को आए थे। कुछ पंडे उन्हें वहां पूजन करा रहे थे। तभी दूसरे पंडे वहां आ पहुंचे और पूजन कराने पर एतराज जताया।

पूजन कराने के अधिकार क्षेत्र को लेकर दोनों पक्षों में बात इतनी बढ़ गई कि एक पक्ष दूसरे पक्ष पर लाठी-डंडे लेकर टूट पड़ा। दोनों पक्ष यमुना घाट पर लड़ने के साथ ही यमुना के अंदर तक झगड़ते चले गए। इससे अफरा-तफरी मच गई और स्नान करने वाले श्रद्धालु खुद के लिए बवाले-जान बनते देखकर वहां से भाग खड़े हुए।

यहां तक कि स्नान करने वाली महिलाएं भी बमुश्किल अपने अस्त-व्यस्त कपड़ों को संभालती हुई वहां से जान बचाकर भागीं।

प्रभारी कोतवाली विनय भारद्वाज ने बताया कि विश्राम घाट पर झगड़ा करने वाले दोनों पक्षों के विरुद्ध पुलिस की ओर से मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है।

मकर संक्रांति के पर्व पर मंदिरों में हवन, यज्ञ और पूजन के विशेष आयोजन किए गए। भगवान को खिचड़ी और दाल, चावल और तिल के लड्डू का भोग लगाया गया। यमुना स्नान के साथ ही दान-पुण्य भी किए गए।

विश्राम घाट, बंगाली घाट और वृंदावन में केशीघाट पर मकर संक्रांति पर यमुना स्नान के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े

मथुरा में विश्राम घाट, बंगाली घाट और वृंदावन में केशीघाट पर मकर संक्रांति पर yamuna स्नान के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े। शहर के प्रमुख मंदिर ठाकुर श्रीद्वारिकाधीश मंदिर में मकर संक्रांति के पर्व पर प्रभु के राजभोग के दर्शन में दो तरह की खिचड़ी का भोग लगाया गया। मंदिर में सुबह से बड़ी संख्या में दर्शनार्थियों ने दर्शन किए व दाल, चावल व तिल के लड्डू का दान किया। इस दिन तिल के दान का विशेष महत्व होता है। सभी झांकियों में दर्शनार्थियों ने प्रभु दर्शन किए। ब्रज के सभी मंदिरों में मकर संक्रांति के पर्व पर खिचड़ी व तिल के दान के अलावा कई सामग्रियों का दान किया गया। मंदिरों के बाहर भी श्रद्धालुओं ने खूब दानपुण्य किया। साधु-संतों व गरीबों में कई प्रकार की सामग्रियां बांटी गईं।

ब्रज के सभी मंदिरों में मकर संक्रांति पर्व को देखते हुए वैदिक रीति से विशेष धार्मिक आयोजन यथा, हवन-यज्ञ, पूजन और अनुष्ठान सम्पन्न कराए गए।   मकर संक्रांति पर yamuna स्नान के लिए बड़ी संख्या में श्रद्धालु उमड़े।

-एजेंसी