मोहन भागवत ने दिए मास्टर Deenanath Mangeshkar पुरस्कार

पुणे। पिछले 30 सालों में अपनी अनूठी पहचान बनानेवाली पुणे स्थित और पंजीकृत चैरिटेबल संस्था मास्टर Deenanath Mangeshkar स्मृति प्रतिष्ठान इस बार भी संगीत, नाटक, कला और सामाजिक क्षेत्र की विभिन्न हस्तियों को सम्मानित किया गया । प्रतिष्ठित मंगेशकर परिवार द्वारा हर साल दिए जानेवाले ये पुरस्कार 24 अप्रैल, 2019 को मुम्बई के सायन स्थित षणमुखानंद हॉल में वितरित किये। सीआरपीएफ के डायरेक्टरेक्ट जनरल श्री विजयकुमार ने इस कार्यक्रम की अध्यक्षता की ।
Master Deenanath Mangeshkar Smruti Pratishthan Awards
Master Deenanath Mangeshkar Smruti Pratishthan Awards

सभी विजेताओं को आरएसएस प्रमुख माननीय श्री मोहन भागवत के हाथों पुरस्कार दिए गए ।

ग़ौरतलब है कि इस साल संगीत और कला के क्षेत्र में जानी-मानी शास्त्रीय नृत्यांगना श्रीमती सुचेता भिडे-चाफेकर को Deenanath Mangeshkar पुरस्कार से नवाज़ा गया , मास्टर दीनानाथ मंगेशकर लाइफ़टाइम अवॉर्ड (जीवन गौरव पुरस्कार) श्री सलीम खान को दिया गया, भारतीय सिनेमा‌ में योगदान के लिए श्री मधुर भंडारकर को दीनानाथ मंगेशकर विशेष पुरस्कार दिया गया, भारतीय सिनेमा‌ में अपने बहुमूल्य योगदान के लिए श्रीमती हेलन को विशेष पुरस्कार से सम्मानित किया , साहित्य के क्षेत्र में श्री वसंत आबाजी डहाके को वागविलासिनी पुरस्कार से पुरस्कृत किया, भद्रकाली प्रोडक्शन्स के ‘सोयारे सकाल’ नाटक को साल के श्रेष्ठ नाटक के तौर पर मोहन वाघ पुरस्कार से सम्मानित किया, सामाजिक क्षेत्र में उल्लेखनीय योगदान के लिए तालयोगी आश्रम के पंडित सुरेश तलवलकर को आनंदमयी पुरस्कार से नवाज़ा गया ।
सीआरपीएफ़ के डायरेक्टरेट जनरल श्री विजयकुमार को गृह मंत्रालय के अधीन भारत के जवानों के लिए सामाजिक कार्य में संलग्न संगठन ‘भारत के वीर’ के लिए सम्मानित किया गया। हमारे प्रतिष्ठान ने इस बार ये पुरस्कार जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले में मारे गये 40 से अधिक सीआरपीएफ़ के शहीदों को समर्पित किया। इसी कार्यक्रम में शहीदों को श्रद्धांजलि स्वरूप लता दीदी अपनी पिता मास्टर दीनानाथ की याद में एक करोड़ रुपए अपने अकाउंट से दान के तौर दिए। इसी तरह, मास्टर दीनानाथ मंगेशकर प्रतिष्ठान ने यशवंतराव चव्हाण नाट्यगृह कोथरुड पुणे के कलाकार  कै.विजय महाडिक के परिवार को ५०,००० रु. की वित्तीय सहायता दी।
-PR

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »