राजस्थान के सबसे बड़े सांस्कृतिक मेलों में से एक है जोधपुर का मारवाड़ महोत्सव

जोधपुर का मारवाड़ महोत्सव नृत्य-संगीत का वार्षिक उत्सव है। यह राजस्थान के सबसे बड़े सांस्कृतिक मेलों में से एक है। यह महोत्सव सितंबर या अक्टूबर में मनाया जाता है। इस बार यह महोत्सव 23-24 अक्टूबर को मनाया जा रहा है। ज्यादातर हिंदू त्यौहारों की तरह इसकी तारीख भी हिंदी कैलेंडर के हिसाब से तय होती है।
मारवाड़ महोत्सव का मुख्य आकर्षण लोक नृत्य और संगीत होते हैं जिनकी थीम राजस्थान के पराक्रमी राजाओं के प्रेम जीवन पर आधारित होते हैं। यहां राजस्थान की संस्कृति और परंपरा के अलग-अलग रंग देखने को मिलते हैं। राजस्थान के लोग वहां के पारंपरिक रंग-बिरंगे लिबास में परफॉर्म करते हैं। जोधपुर के उम्मेद भवन, मेहरानगढ़ किला और मंदौर में खास परफॉरमेंस होते हैं।
देश-विदेश से लोग इस मेले को देखने आते हैं। यहां राजस्थानी संस्कृति का अद्भुत नजारा देखने को मिलता है। यहां दांडी गैर डांस, कालबेलिया नृत्य और घूमर नृत्य देखने का अलग ही रोमांच है। यहां आपको हस्तशिल्प और पारंपरिक परिधानों का अच्छा कलेक्शन मिलेगा। ट्रेडिशनल आइटम्स के कलेक्शन के शौकीन हैं तो आपका यहां अच्छा समय बीतेगा। इस महोत्सव के बहाने आप राजस्थान के ऐतिहासिक धरोहरों की भी सैर कर सकते हैं।
हस्तशिल्प के अलावा यहां कई अन्य आकर्षण भी हैं जिन्हें आप खूब एंजॉय करेंगे। यहां आप टैटू शो और पोलो का भी आनंद ले सकते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »