कई इशारे, जो बताते हैं कि आपकी मैरिड लाइफ में अब नहीं बचा प्यार

रिलेशनशिप की शुरुआत ही प्यार से होती है लेकिन शादी के बाद कई कपल्स इस स्थिति से गुजरते हैं जब यह फीलिंग ही खत्म हो जाती है। इस कारण उनके लिए शादीशुदा जिंदगी महज बोझ बनकर रह जाती है।
किसी भी रिलेशनशिप को जिंदा रखने के लिए उसमें प्यार का होना बेहद जरूरी है। अगर यही भाव खत्म हो जाए तो रिश्ता महज फॉर्मेलिटी बनकर रह जाता है। आपको अपने आसपास ही ऐसे कई शादीशुदा कपल्स दिख जाएंगे, जिनके रिश्ते में प्यार खत्म सा हो चुका है और वे बस शादी के बंधन के कारण अपने रिलेशन को चला रहे हैं।
ऐसे कई इशारे हैं, जो बताते हैं कि कपल के बीच अब प्यार जैसा कुछ नहीं रहा है। अगर इन्हें सही समय पर पहचान लिया जाए, तो मैरिड लाइफ को लवलेस होने से बचाया जा सकता है।
कम्युनिकेशन गैप
रिलेशनशिप की नींव को सबसे ज्यादा मजबूत रखने में कम्युनिकेशन बड़ा रोल निभाता है। इसके लिए कपल कॉल से लेकर मेसेज और पिक्स शेयरिंग का सहारा लेते हैं लेकिन अगर आप दोनों के बीच सिर्फ तभी बात हो रही हो, जब आप दोनों को कोई काम हो तो इसका मतलब यह है कि आपकी एक-दूसरे से बात करने में भी रुचि समाप्त होती जा रही है।
अगर आपके बीच कम्युनिकेशन ही प्रॉपर नहीं रहेगा तो आप दोनों को यह भी पता नहीं चलेगा कि दूसरे की जिंदगी में क्या चल रहा है? ऐसे में गलतफहमियों को रिश्ते में जगह बनाने में देर नहीं लगेगी और नेगेटिविटी बढ़ती जाएगी।
परवाह कम हो जाना
आप कई दिन से बीमार हैं लेकिन आपका पार्टनर सिवाए दवाई ले आने के आपसे हालचाल पूछते रहने का भी जतन न करे तो यह दिखाता है कि उसे आपकी परवाह नहीं। यह स्थिति तब आती है, जब प्यार खत्म होने लगता है। परवाह कम होती है तो कपल एक तरह से सिंगल लाइफ जीने लगते हैं। वे परिवार की ओर से मिलकर जिम्मेदारियां निभाते हैं लेकिन इसके अलावा एक-दूसरे की लाइफ में इंट्रेस्ट न के बराबर रखते हैं।
प्यार जाहिर करने जैसी चीज का खत्म हो जाना
आई लव यू कहना, हगिंग, कडलिंग, डेट, लंबी बातें, साथ में रोमांटिक डिनर आदि कई चीजें हैं, जिससे कपल एक-दूसरे के लिए प्यार जाहिर करता है। अगर ये सब चीजें रिश्ते में दिखना बंद हो जाए तो इसका मतलब है कि व्यक्ति लवलेस मैरेज में जी रहा है। चाहे शादी का रिश्ता कितना ही पुराना क्यों न हा जाए, जो कपल एक-दूसरे से प्यार करते हैं, वे किसी ने किसी तरह इसे जाहिर जरूर करते हैं और जो नहीं करते वे बिना प्यार की शादी में जी रहे होते हैं।
एक-दूसरे के प्रति प्रैक्टिकल अप्रोच रखना
रिलेशनशिप की सबसे बड़ी कमजोरी और स्ट्रेंथ इमोशन्स को माना जाता है। हालांकि, जिन कपल्स के बीच में लव खत्म होता जाता है वे अपने रिश्ते से जुड़ी चीजों को भी इमोशन्स की जगह प्रैक्टिकल सोच पर तोलने लग जाते हैं। उदाहरण के लिए पत्नी के लिए ऐनिवर्सरी पर गिफ्ट लेने जाना, तो इस दौरान यह न सोचना कि उसे यह पसंद आएगा या नहीं, या इसके जरिए भावनाएं जाहिर हो पाएंगी या नहीं। इसकी जगह बस इसलिए गिफ्ट ले लेना क्योंकि कपल के बीच सालों से ऐनिवर्सरी पर गिफ्ट एक्सचेंज किया जाता रहा है। यह दिखाता है कि व्यक्ति इमोशन्स की जगह प्रैक्टिकल अप्रोच से इन लम्हों को डील कर रहा है।
दूसरों की कंपनी में ज्यादा खुशी मिलना
अगर आपको अपने पार्टनर की कंपनी से ज्यादा अपने दोस्तों, कलीग या फिर कजिन्स की कंपनी में टाइम स्पेंड करना ज्यादा अच्छा लग रहा है, यानी आपकी शादीशुदा जिंदगी से प्यार मिसिंग है। कपल अक्सर एक-दूसरे के साथ ज्यादा से ज्यादा टाइम स्पेंड करने के लिए चीजें प्लान करते हैं लेकिन जब प्यार नहीं रहता, तो उनके लिए एक-दूसरे की कंपनी ही बोझिल होने लग जाती है। उन्हें दूसरों की कंपनी में ज्यादा खुशी और सुकून मिलने लगता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *