अटल के आखिरी सफर का हिस्सा बनने के लिए कई देशों के नेता आ रहे हैं भारत

नई दिल्‍ली। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के आखिरी सफर में दुनियाभर के राजनेता और अधिकारी शामिल होंगे। पूर्व पीएम का गुरुवार को दिल्ली के एम्स अस्पताल में निधन हुआ था। इसके बाद से देश ही नहीं बल्कि दूसरे देशों के नेता भी शोक संवेदना जता रहे हैं। यहां तक कि पाकिस्तान में भी अटल को एक शांतिप्रिय नेता के तौर पर याद किया जा रहा है।
खबरों के मुताबिक अटल के आखिरी सफर में हिस्सा बनने के लिए भूटान के राजा, नेपाल के विदेश मंत्री, श्री लंका के विदेश मंत्री, बांग्लादेश के विदेश मंत्री और पाकिस्तान के कानून मंत्री दिल्ली आ रहे हैं।
भूटान नरेश जिग्मे खेसर नामगेयाल वांगचुक और नेपाल के विदेश मंत्री पीके ग्यावल दिल्ली पहुंच चुके हैं। इनके अलावा श्रीलंकाई कार्यवाहक विदेश मंत्री लक्षमण किरियेला, बांग्लादेशी विदेश मंत्री अबुल हसन महमूद और पाकिस्तान के कानून मंत्री अली जफर वाजपेयी के अंतिम संस्कार में शामिल होंगे।
वाजपेयी के पार्थिव शरीर को बीजेपी के मुख्यालय में अंतिम दर्शन के लिए रखा गया है। यहां श्रद्धांजलि देने वाले लोगों का तांता लगा हुआ है। पीएम नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने भी उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए। बीजेपी मुख्यालय में दोपहर 1 बजे तक वाजपेयी के अंतिम दर्शन किए जा सकेंगे और उसके बाद उनकी अंतिम यात्रा निकलेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की मौत के बाद ब्लॉग लिखकर अपना दुख व्यक्त किया। पीएम मोदी ने अटल के साथ अपने रिश्ते, उनके काम और उनके साथ गुजारे पल को याद किया। पीएम मोदी ने अपने ब्लॉग में लिखा कि अटल जी के लिए राष्ट्र ही सर्वोपरि था।
इससे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने वीजपेयी के आवास पर उन्हें श्रद्धांजलि दी। आंध्र प्रदेश के सीएम चंद्रबाबू नायडू, मोहन भागवत, यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, यूपी के राज्यपाल राम नाइक, केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु, डीएमके नेता ए राजा, सर्बानंद सोनोवाल, बिरेन सिंह, महाराष्ट्र सीएम देवेंद्र फडणवीस, छत्तीसगढ़ सीएम रमन सिंह सहित कई बड़े नेताओं ने अटल को श्रद्धासुमन अर्पित किए।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »