थरूर से उलट मनीष तिवारी बोले, पाकिस्‍तान के साथ नहीं खेलना चाहिए मैच

नई दिल्‍ली। पुलवामा हमले के बाद देश के अलग-अलग हिस्सों से एक ही आवाज उठ रही है कि पाकिस्तान के साथ हर तरह के संबंध खत्म किए जाएं। वरिष्ठ कांग्रेस नेता मनीष तिवारी ने शुक्रवार को कहा कि जब तक पाकिस्तान अपनी धरती से होने वाले आतंकवाद को नहीं खत्म करता, तब तक उसके साथ क्रिकेट मैच नहीं होना चाहिए।
मनीष तिवारी ने कहा, ‘जब तक पाकिस्तान में बैठे आतंक के आका और उनके आतंकी संगठन भारत के खिलाफ आतंकवाद को बढ़ावा देना बंद नहीं करते, तब तक पाकिस्तान के साथ क्रिकेट मैच नहीं खेला जाना चाहिए।’ हालांकि कांग्रेस के ही वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की इस पर अलग राय है। उन्होंने शुक्रवार को एक वीडियो जारी कर कहा कि करगिल युद्ध जब अपने चरम पर था, तब भी भारत ने वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ मैच खेलकर उन्हें हराया था।
थरूर ने कहा, ‘जिस समय करगिल युद्ध अपने चरम पर था, उस समय भारत ने वर्ल्ड कप में पकिस्तान के खिलाफ मैच खेला और जीता। इस बार इस मैच को जीतना सिर्फ दो अंक हासिल करना नहीं होगा बल्कि यह उनके लिए समर्पण से भी ज्यादा खराब होगा क्योंकि उनकी यह हार बगैर लड़े होगी।’
सुप्रीम कोर्ट द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (CoA) शुक्रवार को नई दिल्ली में इस मुद्दे पर बैठक करने वाली है। इंग्लैंड में इस साल आयोजित होने वाले वर्ल्ड कप में भारत और पाकिस्तान को 16 जून को मैनचेस्टर में एक-दूसरे से भिड़ना है। कई पूर्व भारतीय क्रिकेटर्स ने बीसीसीआई को सलाह दी है कि वह पाक को टूर्नमेंट से निकालने के लिए आईसीसी पर दबाव डाले।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »