चंद्रग्रहण 2019 16 को, सूतक के कारण 13 घंटे बंद रहेंगे Mandir

नई दिल्ली । गुरु पूर्णिमा के दिन 16 जुलाई को चंद्रग्रहण के चलते सभी प्रमुख Mandir के पट शाम को चार बजे सूतक लगने के कारण बंद हो जाएंगे। जो दूसरे दिन बुधवार सुबह खुलेंगे यानि चंद्रग्रहण के कारण 13 घंटे Mandir के आराध्य के दर्शन नहीं हो सकेंगे। लगातार दूसरे साल गुरु पूर्णिमा पर चंद्रग्रहण हो रहा है।

इस समय बंद हो जाएंगे चारों धामों के कपाट

बदरीनाथ, केदारनाथ और गंगोत्री-यमुनोत्री धाम के कपाट श्रद्धालुओं के लिए शाम चार बजे के बाद बंद कर दिए जाएंगे, जो 17 जुलाई को सुबह खुलेंगे। रात 1.31 बजे से 17 जुलाई सुबह 4.31 बजे तक चंद्रग्रहण है।

सूतक की वजह से ग्रहण के नौ घंटे पहले ही भगवान बदरीनाथ की रात 8.30 बजे होने वाली शयन आरती शाम 4.25 बजे धाम के कपाट बंद होने से पहले ही हो जाएगी। धाम के धर्माधिकारी भुवन चंद्र उनियाल ने बताया कि बदरीनाथ की सभी पूजाएं सूतक लगने से पहले पूरी कर ली जाएगी।

17 जुलाई को सुबह छह बजे बदरीनाथ मंदिर की साफ सफाई के बाद भगवान की अभिषेक पूजा की जाएगी। उधर, यमुनोत्री मंदिर समिति के सचिव कृतेश्वर उनियाल ने बताया कि चंद्रग्रहण के चलते 16 जुलाई को शाम 4.37 बजे यमुनोत्री मंदिर के कपाट बंद कर दिए जाएंगे, जो अगले दिन सुबह पांच बजे पुन: खोले जाएंगे।

भारतीय समय के अनुसार यह रात में 1 बजकर 31 मिनट पर शुरू होने वाले ग्रहण की कुल अवधि 2 घंटे 59 मिनट होगी। भारत के साथ ही यह ग्रहण आस्ट्रेलिया, अफ्रीका, एशिया, यूरोप और दक्षिण अमेरिका में भी दिखाई देगा।

चंद्र ग्रहण को लेकर मान्यताएं

हिन्दू धर्म में चंद्र ग्रहण को काफी अहमियत दी गई है। इसको लेकर कई तरह की मान्यताएं भी हैं।

हिंदू पंचांग देखें तो इस बार चंद्र ग्रहण आषाढ़ शुक्ल पूर्णिमा को उत्तराषाढ़ा नक्षत्र में लग रहा है। यह चंद्रग्रहण खंडग्रास चंद्र ग्रहण कहा जा रहा है। इस बार चंद्र ग्रहण का समय 3 घंटे का होगा। ग्रहणकाल में प्रकृति के भीतर कई तरह की नकारात्मक और हानिकारक किरणों का प्रभाव रहता है।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »