ममता ने नहीं दी योगी आदित्यनाथ का हेलिकॉप्टर लैंड कराने की इजाजत

कोलकाता। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पश्चिम बंगाल के बालुरघाट में एक रैली के लिए जाने वाले थे लेकिन ममता बनर्जी ने योगी आदित्यनाथ का हेलिकॉप्टर लैंड कराने की इजाजत ही नहीं दी। सीएम ऑफिस ने अब जानकारी दी है कि रैली के लिए इजाजत नहीं दी गई है। सीएम ऑफिस ने बताया है कि पश्चिम बंगाल सरकार ने बिना कोई नोटिस दिए रैली की इजाजत खारिज कर दी है। इसे लेकर एक बार फिर तनातनी की स्थिति पैदा हो गई है। स्थानीय बीजेपी कार्यकर्ताओं ने रैली रद्द करने पर विरोध भी शुरू कर दिया है। वहीं, अब खबर है कि योगी आदित्यनाथ रैली को फोन से संबोधित करेंगे।
गौरतलब है कि बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की भी मालदा में रैली से पहले इजाजत को लेकर विवाद हो गया था। सीएम के सूचना सलाहकार मृत्युंजय कुमार ने योगी की रैली को लेकर ममता सरकार को निशाने पर लिया है। उन्होंने कहा, ‘यह यूपी सीएम की लोकप्रियता का असर है कि ममता बनर्जी ने हेलिकॉप्टर लैंड कराने की इजाजत ही नहीं दी।’ पश्चिम बंगाल के बीजेपी नेता मुकुल रॉय ने भी इस पर नाराजगी जताई है। उन्होंने कहा, ‘वहां एक रेग्युलर एयरपोर्ट है। वहां हेलिकॉप्टर को लैंड करने की इजाजत देने में क्या परेशानी है? पश्चिम बंगाल सरकार का यह गैरलोकतांत्रिक कदम है।’
नहीं दी गई हेलिकॉप्टर लैंड की इजाजत
बता दें कि बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव और पश्चिम बंगाल बीजेपी प्रदेश के प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय ने सीएम योगी की सभा के लिए जिला प्रशासन द्वारा हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमीशन न दिए जाने को लेकर ममता बनर्जी की निंदा की थी। उन्होंने कहा, ‘लोकतंत्र में किसी भी राजनीतिक दल की गतिविधियां रोकने का अधिकार किसी को नहीं है। ममता जी के इस कृत्य की हम निंदा करते हैं।’ उन्होंने कहा कि 3 दिन से सभा की अनुमति और हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन मांगी गई थी। सभा की अनुमति तो दे दी गई क्योंकि वह रेल प्रशासन की जमीन थी। उन्होंने आरोप लगाया कि हेलिकॉप्टर लैंडिंग की परमिशन के लिए जिलाधीश का कहना है कि ऊपर से प्रेशर है।
अमित शाह की रैली भी हुई थी कैंसल
गौरतलब है कि कुछ दिन पहले बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी पश्चिम बंगाल में रैली करने जाने वाले थे। उन्होंने भी राज्य सरकार पर आरोप लगाया था कि उनका हेलिकॉप्टर लैंड कराने की इजाजत नहीं दी गई। हालांकि, ममता ने कहा था कि हेलिकॉप्टर की इजाजत दी जा चुकी थी लेकिन सुरक्षा को लेकर मुद्दा था। उन्होंने आरोप लगाया था कि बीजेपी लोगों को गलत जानकारी को जोड़-तोड़ कर लोगों को गुमराह कर रही है। विवाद के बाद शाह ने मालदा में रैली की थी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »