ममता बनर्जी बोलीं, दिल्ली का दंगा पूरी तरह सुनियोजित था

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा है कि दिल्ली में हुआ दंगा पूरी तरह से सुनियोजित नरसंहार था।
इससे एक दिन पहले ही केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कोलकाता में रैली करते हुए ममता बनर्जी की सरकार पर हिंसा और गुंडई करने का आरोप लगाया था।
अब ममता बनर्जी ने दिल्ली हिंसा के बहाने अमित शाह और केंद्र सरकार को घेरा है।
गौरतलब है कि दिल्ली के उत्तर पूर्वी इलाके में हुई हिंसा में अब तक 40 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।
दिल्ली हिंसा के मुद्दे पर ममता बनर्जी ने कहा, ‘दिल्ली की हिंसा सुनियोजित नरसंहार थी, मासूम लोगों की हत्या से अत्यंत दुखी हूं। भारतीय जनता पार्टी पश्चिम बंगाल समेत पूरे देश में दंगों का गुजरात मॉडल लागू करने की कोशिश कर रही है।’
बता दें कि दिल्ली में कई इलाकों में हुई हिंसा में सैकड़ों लोगों के घर जला दिए गए। अब तक 40 से ज्यादा लोगों की जान चली गई और सैकड़ों लोग घायल भी हुए हैं।
‘गोली मारो’ के नारे पर बोलीं ममता बनर्जी: यह दिल्ली नहीं, बर्दाश्त नहीं करेंगे
रविवार को अमित शाह की रैली में जा रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं ने ‘गोली मारो’ के नारे लगाए थे। ममता बनर्जी ने इस बारे में कहा, ‘मैं उन लोगों की निंदा करती हूं जिन्होंने कोलकाता की सड़कों पर ‘गोली मारो..’ के नारे लगाए। इस बारे में कानून अपना काम करेगा। यह दिल्ली नहीं है, कोलकाता में ‘गोली मारो…’ जैसे नारों को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
रविवार को कोलकाता में आयोजित अमित शाह की रैली में शाह ने विपक्ष पर दंगे भड़काने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा कि विपक्ष के लोग सीएए का डर दिखाकर लोगों को डरा रहे हैं और दंगे भड़का रहे हैं। अमित शाह ने कहा था, ‘ममता बनर्जी जब विपक्ष में थीं तो उन्‍होंने शरणार्थियों के लिए नागरिकता का मुद्दा उठाया था। जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सीएए ले आए तो वह एकबार फिर से कांग्रेस और वामपंथियों के साथ विरोध में खड़ी हैं। ममता बनर्जी अल्‍पसंख्‍यकों में भय पैदा कर रही हैं कि वे अपनी नागरिकता खो देंगे।’
‘उपदेश देने की बजाय माफी मांगें अमित शाह’
इससे पहले टीएमसी सांसद अभिषेक बनर्जी ने अमित शाह पर निशाना साधते हुए कहा था, ‘बंगाल आकर उपदेश देने के बजाय अमित शाह को दिल्ली हिंसा पर स्पष्टीकरण देना चाहिए और माफी मांगनी चाहिए। आपकी नाक के नीचे हिंसा हुई और 50 से ज्यादा निर्दोष लोगों की जान चाहिए। अमित शाह जी, बीजेपी जो नफरत और कट्टरता बंगाल में फैलाना चाह रही है, बंगाल उसके बिना ही ठीक है।’
वहीं, दिल्ली हिंसा पर विरोध जताते हुए तृणमूल कांग्रेस के सांसदों ने संसद भवन में महात्मा गांधी की प्रतिमा के सामने प्रदर्शन किया। टीएमसी सांसदों ने आंख पर काली पट्टी बांधकर और मुंह पर उंगली रखकर अपना विरोध जताया।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *