ममता बनर्जी बोलीं, जम्‍मू-कश्मीर में ब्लंडर किया गया है

कोलकाता। कांग्रेस पार्टी के बाद अब पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने भी जम्‍मू-कश्‍मीर से अनुच्‍छेद-370 हटाए जाने को लेकर केंद्र सरकार पर‍ निशाना साधा है। ममता बनर्जी ने दावा किया कि जम्‍मू-कश्मीर में ब्लंडर किया गया है। उन्‍होंने कहा कि कोई मीडिया से पूछिए कि क्या वहां जाने की किसी को इजाजत है? क्या वहां जाकर रिपोर्ट करने की इजाजत है? क्या वहां जाकर बोलने की इजाजत है? उन्‍होंने आरोप लगाया कि जम्‍मू-कश्‍मीर में केंद्र सरकार आवाज दबाने के लिए क्रूर ताकत का इस्‍तेमाल कर रही है।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने बुधवार को बीजेपी के नेतृत्‍व वाली केंद्र सरकार पर कश्मीर घाटी में अंसतोष की आवाज को कुचलने के लिए क्रूर ताकत का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। बनर्जी ने यह भी कहा कि देश के महत्वपूर्ण संस्थानों की अगुवाई सेवानिवृत नौकरशाह कर रहे हैं जो बस सरकार की ‘हां में हां’ मिला रहे हैं।
उन्होंने कोलकाता में विद्यार्थियों की एक रैली में कहा, ‘कश्मीर में क्या चल रहा है? सरकार घाटी में असंतोष की सभी आवाजों को कुचलने के लिए क्रूर ताकत का इस्तेमाल कर रही है।’
सीएम ममता बनर्जी ने कहा, ‘सभी संस्थानों की कमान सेवानिवृत नौकरशाहों के हाथों में है जिनकी कोई जवाबदेही नहीं है। वे बस सरकार की हां में हां मिला रहे हैं। एक सरकार, एक नेता, एक पार्टी मुझे लग रहा है कि हम राष्‍ट्रपति प्रणाली आधारित चुनाव की ओर बढ़ रहे हैं। अन्‍य सभी पार्टियां खंड-खंड हो गई हैं। जब कर्नाटक सरकार गिरी तो किसी ने कुछ नहीं कहा। वे (बीजेपी) अब कह रहे हैं कि पश्चिम बंगाल पर भी कब्‍जा करेंगे। मैं देखूंगी कि वे ऐसा कैसे करते हैं।’
ममता बनर्जी ने कहा, ‘हम किसी भी एजेंसी से डरे नहीं हैं। वे एक दिन एक व्‍यक्ति को बुलाएंगे और दूसरे दिन दूसरे व्‍यक्ति को। यदि मैं जेल जाऊंगी तो मैं इसे स्‍वतंत्रता संघर्ष के रूप में देखूंगी।’ उन्‍होंने कहा, ‘केंद्र सरकार विपक्षी नेताओं को या तो धमकी दे रही है या पैसे से उन्हें खरीद ले रही है। अब वह बंगाल के पीछे पड़ी है क्योंकि हम उसकी नीतियों और विभाजनकारी राजनीति का विरोध कर रहे हैं।’’
बता दें कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी और टीएमसी के बीच जुबानी जंग तेज हो गई है। पश्चिम बंगाल बीजेपी के अध्‍यक्ष दिलीप घोष ने अपनी पार्टी के नेताओं से कहा था कि अगर उनपर हमला होता है तो वे भी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ताओं और पुलिसकर्मियों को पीटें। दिलीप घोष ने आगे कहा, ‘अगर आप पर हमला होता है तो तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं और पुलिस कर्मियों को पीट दीजिए। डरने की जरूरत नहीं। कोई भी दिक्कत होगी तो हम हैं ना, सब संभाल लेंगे। अगर पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम को जेल भेजा जा सकता है तो तृणमूल कांग्रेस के ये नेता तो हमारे लिए मच्छर, कीड़े-मकोड़े की तरह हैं।’
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *