Mamta Banerjee ने नहीं दी प.बंगाल में मोहन भागवत को आने की इजाज़त

कोलकाता। मोहन भागवत के प.बंगाल में आयोजित सिस्‍टर निवेदिता की 150वीं जयंती समारोह समिति के कार्यक्रम में भाग लेने पर Mamta Banerjee ने रोक लगा दी है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने मंगलवार को आरोप लगाया कि यहां के एक सरकारी ऑडिटोरियम में संघ प्रमुख मोहन भागवत का कार्यक्रम निर्धारित था लेकिन कार्यक्रम की बुकिंग रद्द कर दी गई है। आरएसएस ने बुकिंग रद्द करने के कदम की निंदा की है। यह कार्यक्रम अक्टूबर के पहले हफ्ते में होना था।

ऑडिटोरियम के अधिकारियों ने कहा कि उस दौरान पुनर्निमाण एवं मरम्मत का काम होगा और इसलिए ‘सुरक्षा कारणों ‘ से जगह मुहैया नहीं करायी जा सकती।

राज्य में आरएसएस के प्रवक्ता ने कहा, ‘यह पहली बार नहीं है जब इस तरह का कदम उठाया गया है। इससे पहले भी (पश्चिम बंगाल) सरकार ऐसा कर चुकी है। हम इस कदम की निंदा करते हैं।’ बता दें कि 20114 में भी संघ प्रमुख भागवत का एक कार्यक्रम को मंजूरी नहीं दी गई थी।

सिस्टर निवेदिता की 150वीं जयंती समारोह समिति ने कार्यक्रम के लिए महाजाति सदन मई में ही बुक किया था। समिति के एक प्रवक्ता ने दावा किया कि ऑडिटोरियम ने जून में बुकिंग ले ली थी। समिति के महासचिव रंतिदेव सेनगुप्ता ने कहा, ‘लेकिन पिछले हफ्ते ऑडिटोरियम के अधिकारियों ने पहले कहा कि हमें पुलिस की मंजूरी लेनी होगी। जब हमने उनसे कहा कि हम पहले ही पुलिस को कार्यक्रम की जानकारी दे चुके हैं, तो उन्होंने कहा कि ऑडिटोरियम में उस दौरान पुनर्निमाण का काम कराया जाएगा और इसलिए हमारा कार्यक्रम नहीं हो सकता।’

Mamta Banerjee को  जानने वालों  ने बताया कि ऑडिटोरियम के सूत्रों ने कहा कि ऑडिटोरियम में पुनर्निमाण एवं मरम्मत का काम होगा और इसलिए ‘सुरक्षा कारणों’ से जगह मुहैया नहीं करायी जा सकती। सूत्रों ने कहा कि दूसरे संगठनों की भी इस अवधि की बुकिंग रद्द की गई है।
-एजेंसी