मलाला के जन्‍मदिन पर उनकी बायोपिक Gul makai का First Look रिलीज

नई दिल्‍ली। Gul makai टाइटल की इस फिल्‍म के पहले लुक में एक्‍ट्रेस दिव्‍या दत्ता की आवाज में मलाला के नाम के पीछे की कहानी बताई गई है, दरअसल मलाला Gul makai नाम से ही बीबीसी में अपने लेख लिखा करती थीं।

परंपरागत लिबास और सिर पर दुपट्टा, देखने में वह अपनी उम्र की किसी आम लड़की जैसी ही लगती है, लेकिन दृढ़ निश्चय से भरी आंखें…। यह है सबसे कम उम्र में नोबल पुरस्कार हासिल करने वाली पाकिस्तान की मलाला युसुफजई, जिनकी जिंदगी पर जल्‍द ही एक फिल्‍म भी सामने आ रही है।

आज (12 जुलाई) मलाला अपना 21वां जन्‍मदिन मना रही है और इसी दिन मलाला की बायोपिक का पहला लुक रिलीज किया गया है। मलाला पर यह फिल्‍म निर्देशक अमजद खान ला रहे हैं. इसके पहले लुक में अपने स्‍कूल जाती और खेलती मलाला को दिखाया गया है।

आप भी देखिए मलाला की इस बायोपिक का टीजर…..

Gul makai टाइटल की इस फिल्‍म के पहले लुक में एक्‍ट्रेस दिव्‍या दत्ता की आवाज में मलाला के नाम के पीछे की कहानी बताई गई है। दरअसल मलाला गुल मकई नाम से ही बीबीसी में अपने लेख लिखा करती थीं। मलाला 11 साल की उम्र में पाकिस्तान के खूबसूरत इलाके स्वात में तालिबान के जुल्मों की दास्तान बीबीसी पर Gul makai के छदम नाम से हर हफ्ते लिखती थीं।

‘गुल मकाई’ की शूटिंग जम्मू कश्मीर के गंदेरबल में शुरु कर दी गई है

फिल्म मलाला के शुरुआती दिनों के संघर्ष से शुरु होती है कैसे स्वात घाटी में मलाला ने लड़कियों की शिक्षा के लिए संघर्ष शुरू किया। फिल्म की लगभग हिस्से पहले ही मुबंई और भुज में शूट कर लिए गए हैं फिल्म के बाकि हिस्से का शूट कश्मीर में किया जा रहा है।

इस फिल्म का निर्देशन अमजद खान कर रहे हैं। फिल्म में रीमा शेख, दिव्या दत्ता, मुकेश ऋषि अभिमन्यु सिंह वल एजाज खान मुख्य कलाकार के रूप में मौजूद हैं।

2014 में जीता सबसे कम उम्र में नोबेल

नोबेल पुरस्कार जीतने वाली मलाला फिलहाल ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से दर्शन, राजनीति और अर्थशास्त्र की पढ़ाई कर रही हैं।मलाला युसूफजई को 2014 में भारत के कैलाश सत्यार्थी के साथ संयुक्त रूप से नोबेल शांति पुरस्कार दिया गया था।

तालिबानियों का हुई थीं शिकार

आपको बता दें कि, लड़कियों की शिक्षा के अधिकार के लिए आगे आईं 20 वर्षीय मलाला पर 2012 में पाकिस्तानी तालिबानी ने हमला किया था। मलाला युसूफजई तब महज 15 साल की थीं जब तालिबान के एक बंदूकधारी ने उनके सिर में गोली मार दी थी।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »