दिल्ली कैंट में सेना के अफसर की पत्नी की हत्या के मामले में Major गिरफ्तार

नईदिल्‍ली/मेरठ। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के छावनी इलाके में बरार स्क्वायर के पास सेना के Major अमित की पत्नी की हत्या के मामले में आरोपी को मेरठ से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी का नाम निखिल हांडा है और वह भी सेना में Major है।  आपको बता दें कि दिल्ली के बेहद ही संवेदनशील कैंट इलाके मेजर के पद पर कार्यरत की पत्नी शैलजा द्विवेदी की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना के बाद इलाके में ह़डकंप मच गया। शैलजा सुबह 10 बजे आर्मी के बेस अस्पताल फिजियोथेरेपी कराने आई थी लेकिन करीब 1 बजकर 28 मिनट पर दिल्ली कैंट मेट्रो स्टेशन के पास वरार स्केयर में सड़क पर शैलजा का शव मिला।

मिली जानकारी के मुताबिक अमित और निखिल दीमापुर में ही तैनात थे और वहीं पर इनकी जान-पहचान हुई थी। अमित के साथ ही निखिल की बातचीत शैलजा से भी शुरू हुई थी। पुलिस को सीसीटीवी से पता चला है कि घटना वाले दिन निखिल ने शैलजा को अपनी हॉडा सिटी कार में बैठाया कर कहीं ले गया था और उसके बाद उसकी हत्या कर फरार हो गया।

भारतीय सेना में मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा की शनिवार को दिल्ली के बरार स्क्वायर में हत्या करने के आरोप में दिल्ली पुलिस की टीम ने भारतीय सेना के ही एक मेजर निखिल हांडा को मेरठ के दौराला से गिरफ्तार कर लिया है। उस पर शैलजा की गला रेतकर हत्या करने का आरोप है। पुलिस उसे पूछताछ के लिए दिल्ली ला रही है। शुरुआती जांच में मिले सबूतों के आधार पर पुलिस हत्या के पीछे प्रेम प्रसंग को जोड़कर देख रही है।

भारतीय सेना में मेजर अमित द्विवेदी की पत्नी शैलजा की शनिवार को अज्ञात लोगों ने गला रेतकर हत्या कर दी थी। वारदात नारायणा स्थित आरपीएफ बरार स्क्वायर के पास की है। आरोपी हत्या कर शव को सड़क किनारे फेंक कर फरार हो गए थे।

इस मामले की तफ्तीश के लिए पुलिस ने इसके लिए शैलजा के फोन कॉल की डिटेल्स भी निकलवानी शुरू कर दी है। पुलिस यह पता भी पता लगाने की कोशिश कर रही है कि किन-किन लोगों से सबसे ज्यादा बात होती थी।

सड़क किनारे महिला का शव पड़ा देख राहगीरों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया है और मृतका के परिजनों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है।

पश्चिमी जिला पुलिस उपायुक्त विजय कुमार के अनुसार, नारायणा थाने में दोपहर 1:28 बजे एक युवक ने फोन कर महिला की मौत की जानकारी दी। शव के पास से कोई दस्तावेज बरामद नहीं होने से पुलिस महिला की शिनाख्त में जुटी थी, कि इसी बीच मेजर अमित ने नारायणा थाने पहुंचकर पत्नी की गुमशुदगी की शिकायत दी। पुलिस ने मृतका के बारे में बताया तो मेजर ने उसकी पहचान पत्नी शैलजा द्विवेदी के रूप में की। मेजर ने बताया कि उनकी पत्नी सुबह 10 बजे फिजियोथेरेपी के लिए आर्मी की गाड़ी से आरआर अस्पताल गई थीं। गाड़ी शैलजा को अस्पताल छोड़कर वापस आ गई। इसी गाड़ी से मेजर अपने ऑफिस चले गए।

गौरतलब है कि मेजर अमित द्विवेदी पहले दीमापुर में तैनात थे। अभी दिल्ली ट्रेनिंग के लिए आए हुए थे। जल्द ही उन्हें यूएन मिशन पर सूडान जाना था। शैलजा दिल्ली की रहने वाली थीं और अमित द्विवेदी मेरठ के रहने वाले थे। 2009 में उनकी शादी हुई थी। Major अमित का एक 6 साल का बेटा है।
– Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »